पहली बार टेस्ट क्रिकेट होगा लखनऊ इकाना में

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में इन दिनों क्रिकेट का मौसम चल रहा है। दरअसल भारत रत्‍न अटल बिहारी वाजपेयी इकाना स्टेडियम पर अरसे बाद भारत और वेस्टइंडीज के बीच टी-20 मुकाबले का आयोजन किया गया था। सबसे बड़ी बात है कि 24 साल बाद यहां पर कोई  अंतरराष्ट्रीय मुकाबले का आयोजन किया गया था। इसके बाद से ही यहां पर क्रिकेट की नई गाथा लिखी जा रही है।

अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड को भारत रत्‍न अटल इकाना स्टेडियम इतना पसंद आया कि उसने इसे अपना घरेलू मैदान बना डाला। इसके बाद करीब एक महीने से अफगानिस्तान की टीम यहां पर अपना खूंटा गाड़ी हुई है। अफगानिस्तान और वेस्टइंडीज के बीच यहां पर पहले वन डे सीरीज खेली गई। इसके बाद टी-20 क्रिकेट का रोमांचक मुकाबला देखने को मिला और अब यहां पर दोनों टीमों के बीच टेस्ट क्रिकेट की बहार देखने को मिलेगी।

25 साल बाद अब लखनऊ में टेस्ट क्रिकेट का आयोजन अटल इकाना स्टेडियम पर किया जा रहा है। इससे पहले 1994 में पहली बार केडी सिंह बाबू स्टेडियम पर भारत और श्रीलंका के बीच में टेस्ट क्रिकेट खेला गया था। इस मैच में भारत ने श्रीलंका को एक पारी 119 रन की करारी शिकस्त दी थी। इस मुकाबले में क्रिकेट के रिकॉर्ड पुरुष सचिन तेंदुलकर ने 142 रन की जोरदार पारी खेली थी। अब एक बार फिर लखनऊ में टेस्ट क्रिकेट का आयोजन किया जा रहा है।

फर्क केवल इतना है इस बार केडी सिंह बाबू स्टेडियम नहीं है बल्कि अटल बिहारी वाजपेयी इकाना स्टेडियम पर होगा। इसके साथ ही अफगान बनाम वेस्टइंडीज के इस मुकाबले पर बीसीसीआई की भी खास नजर होगी।

जानकारों की माने तो अगर सबकुछ ठीक रहा था तो आने वाले समय भारतीय टीम भी यहां पर खेलती नजर आयेगी। भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी ज्ञानेंद्र पांडेय ने जुबिली पोस्ट से खास बातचीत में कहा कि लखनऊ में एक बार फिर टेस्ट क्रिकेट का आयोजन किया जा रहा है, जो गौरव की बात है। उन्होंने आगे कहा कि आने वाले समय में यहां पर भारत की टीम भी खेलती नजर आ सकती है। उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय मानकों पर यह स्टेडियम खरा उतर चुका है। ऐसे में आने वाले समय लखनऊ क्रिकेट का नया गढ़ बन सकता है।

बीसीसीआई क्यों है नजर

अगर पिच पांच दिन ठीक रही तो यहां पर और टेस्ट मुकाबले आयोजित किये जा सकते हैं। इकाना की पिच को लेकर कहा जाता है थोड़ी स्लो है लेकिन अभी तक ऐसा कुछ देखने को नहीं मिला है। इतना ही नहीं यहां पर अभी जो भी मुकाबले हुए है, उसमें स्पिनर और तेज गेंदबाजों को मदद मिली है। हालांकि बल्लेबाजों ने यहां पर खूब रन बनाये हैं।

Translate »
क्रान्ति न्यूज - भ्रष्टाचार के खिलाफ क्रांति की मशाल