युवक ने लगाई आग, लपटों से घिरा दौड़ता रहा, 35 % झुलसा

KRANTI NEWS GWALIOR RAJESH PANDEY (STATE HEAD M.P) ग्वालियर। कलेक्ट्रेट जनसुनवाई में मंगलवार दोपहर करीब 12.15 बजे आग लगाकर भागते युवक को देखकर अफरा-तफरी और दहशत फैल गई। यहां अपर कलेक्टर रिंकेश वैश्य जनसुनवाई कर रहे थे और जनसुनवाई हॉल में घुसने से पहले ही मजदूर युवक ने खुद को आग लगा ली और अंदर भागता आया। पीछे के हिस्से में भीषण आग से जलते युवक को देख अफसरों से लेकर फरियादी घबरा गए।

युवक ने एक महिला को पीछे से पकड़ लिया जिसे वह झुलस गई और एक होमगार्ड की वर्दी भी जल गई। कुछ देर बाद मजदूर घबराकर गिर पड़ा और भागमभाग के बीच जैसे तैसे होमगार्डाें ने कपड़े से आग को बुझाया। एसडीएम और सीएमएचओ तत्काल घायल युवक को लेकर जेएएच पहुंचे।

युवक 35 प्रतिशत झुलसा है। डॉक्टरों ने बताया कि उसका इलाज जारी है। युवक का नाम अनिल बरार (26) है। वह खेड़ापति कॉलोनी भितरवार का रहने वाला है। युवक सरकारी जमीन पर आवास बनाना चाहता था और उसने बयानों में पार्षद के बेटे आशिक खान और भोला नाई पर जान से मारने की धमकी का आरोप लगाया है।

यह है घटनाक्रम

युवक दोपहर 12 बजे कलेक्ट्रेट की जनसुनवाई में पहुंच गया था। यहां अपर कलेक्टर रिंकेश वैश्य कतार लगे हुए फरियादियों की शिकायतें सुन रहे थे। जनसुनवाई में कलेक्टर,एडीएम नहीं थे। कुछ देर बाद जनसुनवाई के गेट पर करीब 12.15 मिनट पर अनिल ने आग लगा ली। बचाओ-बचाओ कहता हुआ उसने दौड़ लगा दी।

आगे दूसरे गेट के पास जयमाला कुशवाह नाम की महिला को पीछे से पकड़ लिया तो उसके पति ने युवक को धकियाकर छुड़ाया। भीषण आग की लपटों से घिरे युवक को देख अफरा तफरी मच गई सब भागने लगे। वह चंद सेकंज में जनसुनवाई हॉल में घुसा और फिर जिसे जहां जगह दिखी भागने-छिपने लगे। अधिकारियों की टेबल के पास युवक का पैर फिसल गया और फिर होमगार्ड सैनिकों को यहां आग बुझाने का समय मिला तो उसके कपड़े हटा दिए। तत्काल सीएमएचओ और अधिकारी उसे जेएएच ले गए।

इसलिए लगाई आग

जेएएच की बर्न यूनिट में कलेक्टर अनुराग चौधरी,एसपी नवनीत भसीन,सीईओ जिला पंचायत शिवम वर्मा,एडीएम टीएन सिंह,एसडीएम पुष्पा पुषाम,सीएमएचओ मृदुल सक्सेना,जेएएच अधीक्षक डॉ अशोक मिश्रा पहुंच गए थे। जांच में पता चला आग लगाने वाला युवक अनिल बरार पुत्र स्व जगन्नाथ बरार निवासी खेड़ापति कॉलोनी भितरवार है जिसकी उम्र 26 साल है। कुल तीन भाई हैं और मां है।

अनिल ने अपने बयान में बताया कि जमीन पर वह आवास बनाना चाहता है और आशिक खान जो वार्ड 6 पार्षद का बेटा है और भोला नाई यह दो लोग इस जमीन को हथियाना चाहते हैं और जान की धमकी दे रहे हैं। पहले भी पांच बार जनसुनवाई में आवेदन दे चुका है। कलेक्टर अनुराग चौधरी ने 24 घंटे में जांच के आदेश एडीएम टीएन सिंह को दिए हैं और एडीएम एएसपी ने भितरवार जाकर मंगलवार को ही जांच पड़ताल की। जमीन जांच में सरकारी ही निकली है।

Translate »
क्रान्ति न्यूज - भ्रष्टाचार के खिलाफ क्रांति की मशाल