राजकीय मेडिकल कॉलेज को मिली एम बी बी एस की मान्यता

kranti news jalaun , (beauro chief) kuldeep maharaj :-

उरई (जालौन)
राजकीय मेडिकल कॉलेज जालौन (उरई)की स्थापना वर्ष २००६ में हुई थी।तथा वर्ष २०१३ में एम बी बी एस प्रथम बेच प्रारंभ किया गया था।तब से निरंतर एम सी आई नई दिल्ली निरीक्षण करती आ रही है।समय समय पर पठन पाठन का स्तर अध्यनरत छात्रों को दी जाने वाली सुविधाओं इन्फास्टेक्चर रिसर्च के कार्यों एवं विभिन्न बिंदुओं का निरीक्षण किया जाता रहा है।
इसी कृम में पूर्ववर्ती प्रधानाचार्यों चिकित्सा शिक्षकों एवं नर्सिंग स्टाफ तथा कर्मचारी का समय समय पर निरीक्षण किया जाता रहा।जो समर्पित सेवा भाव से काम करते रहे। लेकिन अंतिम वर्ष की मान्यता नहीं मिली। जिसके चलते छात्रों का एम सी आई में रजिस्ट्रेशन नहीं हो पाया।
मान्यता न मिलने के कारण वर्ष २०१८-१९ को प्रवेश देने की अनुमति नहीं मिली। सभी जानते हैं कि मान्यता नहीं मिलती तो संस्थान का सर्वांगीण विकास नहीं होता है।पठन पाठन भी पूर्ण उत्साह से नहीं हो पाता।
हर्ष का विषय है कि डा् रजनीश दुबे प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा उत्तर प्रदेश शासन एवं डा के के गुप्ता महानिदेशक चिकित्सा शिक्षा एवं प्रशिक्षण उत्तर प्रदेश राजकीय मेडिकल कॉलेज जालौन (उरई) की मान्यता पर विशेष निगरानी कर रहे थे। फेकल्टी के चयन से लेकर उपकरणों की समुचित उपलब्धता समुचित उपयोग एवं मेडिकल कॉलेज को एम सी आई नई दिल्ली की मान्यता दिलाने के लिए निरंतर मार्ग दर्शन एवं दिशा-निर्देश प्राप्त हो रहा था।
शासन एवं स्थानीय स्तर पर बेहतर समन्वय स्थापित करने का कार्य वर्तमान जिलाधिकारी डा, मन्नान अख्तर का दिशा-निर्देश मिल गया। स्वयं डाक्टर होने के नाते एम सी आई नई दिल्ली के मानकों को पूरा करने का प्रयास किया और सारी जानकारी देते रहे।
उक्त जानकारी देते हुए प्रधानाचार्य राजकीय मेडिकल कॉलेज जालौन (उरई)ने कहा कि
एम सी आई नई दिल्ली की
मान्यता न मिलने के जो भी कारण थे जेसे उपकरणों की कमी चिकित्सा संस्थान में चिकित्सा शिक्षकों की फेकल्टी की कमी कर्मचारियों की कमी छात्रों को चिकित्सा सुविधा की कमी इत्यादि के निराकरण में स्थानीय जनप्रतिनिधियों सांसद भानू प्रताप सिंह वर्मा उरई सदर बिधायक गोरीशंकर वर्मा माधौगढ़ बिधायक मूलचंद निरंजन अध्यक्ष- नगर पालिका उरई अनिल बहुगुणा पूर्व सांसद घनश्याम अनुरागी कई चिकित्सा देवबन्धु सेवाभाव संस्थानदेवबन्धु सेवाभाव संस्थानदेवबन्धु सेवाभाव संस्थान

Translate »
क्रान्ति न्यूज - भ्रष्टाचार के खिलाफ क्रांति की मशाल