मध्यप्रदेश में एक और बड़े सेक्स रैकेट का खुलासा, पूर्व सरपंच समेत 10 गिरफ्तार

kranti news madhya pradesh , ( state head) rajesh pandey :-

भोपाल।।मध्य प्रदेश(madhypradesh) की राजधानी भोपाल(bhopal) में लगातार सेक्स रैकेट(sex raket) पकडे जाने के मामले सामने आ रहे हैं। एक बार फिर क्राइम ब्रांच(crime branch) ने बड़े रैकेट का खुलासा किया है। यहां क्राइम ब्रांच ने क्लीनिक की आड़ में चल रहे सेक्स रैकेट का भंडाफोड़ किया है। ब्रांच ने दस लोगों को गिरफ्तार किया है, जिसमें महिलाएं, बिल्डर और पूर्व सरपंच भी शामिल है।बता दे कि इससे पहले रविवार को ग्वालियर में एक बड़े सेक्स रैकेट का खुलासा हुआ था, जिसमें नौ लड़के-लड़कियां गिरफ्तार हुए थे।
क्राइम ब्रांच की टीम ने राजधानी के बरखेड़ी इलाके में चल रहे सेक्स रैकेट का खुलासा किया है। यहां गुप्त रोग की दवाई की दुकान और क्लीनिक की आड़ में यह सेक्स रैकेट चल रहा था।बिना रजिस्ट्रेशन के आरोपी महिला डॉक्टर फर्जी तरीके से क्लीनीक चला रही थी।क्राइम ब्रांच ने छापेमार कार्रवाई कर मौके से 4 महिलाओं समेत 10 आरोपियों को गिरफ्तार किया है।आरोपियों में पूर्व सरपंच और 2 बिल्डर भी शामिल है।क्राइम ब्रांच ने मुखबिर की सूचना पर यह कार्रवाई की है।फिलहाल आरोपियों से पूछताछ की जा रही है, वही उनसे जुडे गिरोह का पता लगाया जा रहा है। पुलिस मोबाइल कॉल डिटेल (call details) से इस बात की तलाश कर रही है कि आखिरकार यहां कौन-कौन अय्याशी के लिए आता था।

इसके पहले रविवार को पुलिस ने डीडी नगर में घनी आबादी के बीच एक मकान में चल रहे सेक्स रैकेट का भांडाफोड़ पुलिस ने किया था। देह व्यापार का अड्‌डा चलाने वाली एक महिला है, जो ग्वालियर के अलग-अलग इलाकों से कॉल गर्ल बुलवाती थी। पुलिस ने यहां छापा मारने से पहले बाकायदा सिपाही को ग्राहक बनाकर भेजा। इसके बाद छापा मारा गया। मकान में कमरों के अंदर से तीन कॉल गर्ल्स और चार ग्राहक पकड़े गए। जबकि वह महिला जो यह अड्‌डा चला रही थी और उसका बॉयफ्रेंड भी पकड़ा गया है। इसके बाद सीएसपी के नेतृत्व में जब रेड मारी गई तो वहां 5 पुरुष और 4 महिलाओं को गिरफ्तार किया गया। यह देह व्यापार लंबे समय से चल रहा था और शहर के कई संभ्रांत लोगों के यहां आने की खबर भी थी । अब पुलिस मोबाइल कॉल डिटेल से इस बात की तलाश कर रही है कि आखिरकार यहां कौन-कौन अय्याशी के लिए आता था।

Translate »
क्रान्ति न्यूज - भ्रष्टाचार के खिलाफ क्रांति की मशाल