दिल्ली में हिंसा के जिम्मेदार कौन?

क्रांति न्यूज, ब्यूरो प्रमुख- कवि अनिरुद्ध कुमार सिंह :- गाजियाबाद । दि०27/02/20 :- भारत की राजधानी नई दिल्ली में सी.ए.ए. के समर्थकों एवं विरोधियों के बीच हुए हिंसात्मक टक्कर में 13 से अधिक लोगों को जान से हाथ धोने पड़े और सैकड़ों लोग घायल हुए ।शाहिनवाग में सतर दिनों से सी.ए.ए. के विरोधी समझाने के बाद भी धरने क्यों नहीं समाप्त कर रहे हैं? वे सब रोड पर बैठकर आम पब्लिक को क्यों परेशान कर रहे हैं? पहले पुरे देश में हिंसा, फिर शाहिनवाग में धरना प्रदर्शन और अंत में अमेरिका के राष्ट्रपति के आगमन पर नयी दिल्ली में भारी हिंसा के दोषी कौन हैं? जब भारतीय जनता पार्टी के नेता बार – बार कह रहे थे कि सी.ए.ए. से भारतीय मुसलमानों को कोई परेशानी नहीं है और इससे उनकी नागरिकता नहीं जायेगी। इसके बाद भी दंगे क्यों हुए? विपक्षी पार्टी के नेता सी.ए.ए. के विरोध में जनता के सामने भ्रम फैलाकर दंगा कराने के दोषी हैं । भारतीय जनता पार्टी के नेता श्री मनोज तिवारी ने नयी दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से सही प्रश्न पूछे हैं कि सी.ए.ए.पर अपनी विचार स्पष्ट करें । उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री माननीय मुख्यमंत्री श्री योगी जी ने साफ-साफ बताये हैं कि विपक्षी दलों के नेताओं ने सी.ए.ए के खिलाफ भ्रम फैलाकर पुरे देश में अशांति एवं हिंसा फैला रहे हैं ।इस प्रकार से यह बात स्पष्ट हो जाता है कि नयी दिल्ली में हिंसा के दोषी कौन है ? कांग्रेस पार्टी के नेत्री श्रीमती सोनिया गांधी और प्रियंका गांधी भी दंगे कराने की पूर्ण दोषी हैं क्योंकि इन्होंने सी.ए.ए.के विषय में कभी सही बातें जनता के सामने नहीं प्रचार की । इसके साथ ही साथ राहुल गांधी, ममता बनर्जी, तेजस्वी यादव, अखिलेश यादव जैसे अनेक नेताओं ने सी.ए.ए के खिलाफ अनाप-शनाप बोलकर शांति के माहौल को खराब करने के काम किए हैं । इनके कार्य से जनता में काफी आक्रोश की भावना भड़क रही है । आनेवाले चुनाव में जनता सही – ग़लत की फैसला कर देगी ।

One thought on “दिल्ली में हिंसा के जिम्मेदार कौन?

Comments are closed.

Translate »
क्रान्ति न्यूज - भ्रष्टाचार के खिलाफ क्रांति की मशाल