भारत माता के दुश्मन बाहर से ज्यादा देश के अंदर छिपे हुए हैं ।

क्रांति न्यूज, ब्यूरो प्रमुख -कवि अनिरुद्ध कुमार सिंह :- गाजि० दि०-19/02/2020 :- आज अगर भारत माता के दुश्मन को ‌पता किए जायें तो सबसे ज्यादा दुश्मन कहां मिलेंगे? अगर आप सभी यह भी पता कीजिए कि पाकिस्तान के प्रेमी सबसे ज्यादा कहां मिलेंगे? अगर इन दोनों प्रश्नों के उत्तर खोजेंगे तो पता चलेगा कि भारत माता के दुश्मन बाहर से ज्यादा देश के अंदर छिपे हुए हैं । दूसरे प्रश्न के उत्तर में आप हैरान होकर रह जायेंगे क्योंकि भारत में भारत माता से ज्यादा पाकिस्तान के भक्तों की संख्या ज्यादा है । इस प्रकार से देखा जाए तो देशभक्तों से ज्यादा देशद्रोहियों की संख्या ज्यादा है । अगर ऐसी स्थिति है तो यह सचमुच में बहुत हीं दुःख का विषय है । अगर आप तीसरे प्रश्न पर गौर करें कि भारत माता के दुश्मन कौन हैं? इस प्रश्न के उत्तर में आप सभी यह जानते होंगे कि भारत माता के दुश्मन कौन और कहां रह रहे हैं? लेकिन आश्चर्य की बात है कि हम सभी जानते हुए भी देश के दुश्मनों के खिलाफ में बोलने के साहस नहीं दिखा पाते हैं ।आज के समय में कुर्सी प्राप्त करने के लिए भारतीय नेता पाकिस्तान जिंदाबाद करने को भी तैयार हैं लेकिन भारत माता की जय कहने को तैयार नहीं है । ऐसी स्थिति में इस देश में देशभक्तों की संख्या नित्य प्रतिदिन घटते जा रहे हैं । भारत माता के भक्तों । आप समय रहते हुए देश के दुश्मनों को पहचानकर उन्हें भारत देश से बाहर नहीं भगायेंगे तो एक दिन भारत भी पाकिस्तान की तरह मजहबी देश बनकर रह जायेंगे ।पुरी दुनिया में 130 देश ईसाइयों के लिए,57 देश मुसलमानों के लिए,10 देश बौद्धों के लिए,01 देश यहुदियों के लिए हैं । लेकिन सबसे ज्यादा आश्चर्य एवं दुःख की बात यह है कि पुरी दुनिया में हिंदूओं के लिए एक भी देश नहीं है । इससे भी ज्यादा आश्चर्यचकित करने वाली बात तो यह है कि यह सब जानते हुए भी हिंदुओं में पचास प्रतिशत लोग हिन्दू प्रधान देश बनाने के खिलाफ में है जो यह अशुभ एवं दुखित कर देने वाली बात है । भारत के विपक्षी पार्टी के नेता पाकिस्तान से ज्यादा भारत माता के दुश्मन बन गए हैं । अब उसे हिंदुस्तान से ज्यादा पाकिस्तान पसंद (प्यारा) लगने लगा है । ऐसी स्थिति में भारतीय जनता विचार कर सकते हैं कि भारत माता के कौन सच्चे देशभक्त हैं और कौन देशद्रोही? आप दोनों को पहचान कर भारत माता के देशभक्तों को साथ दीजिए अन्यथा आपके भाईचारे और धर्मनिरपेक्षता के कानून भारतवासियों को विनाश की ओर ले जायेंगे । अतः समय रहते हुए देश के दुश्मनों को यथाशीघ्र खत्म करने के लिए सभी देशभक्तों को एकजुट होने की आवश्यकता है ।
.

Translate »
क्रान्ति न्यूज - भ्रष्टाचार के खिलाफ क्रांति की मशाल