जनपद की साहित्यिक संस्था ने पुलवामा के शहीदों की याद में की काव्य गोष्ठी*

उमाकान्त , ब्यूरो चीफ

शाहजहाँपुर जनपद के मोहल्ला ऐमन ज़ई जलालनगर स्थित शहीद अशफाक उल्ला खान स्मारक पार्क हॉल में शुक्रवार की शाम 5 बजे से शहर की साहित्यिक संस्था तुलसी – मीर फ़ाउन्डेशन ने साहित्यिक सम्मान समारोह एवं पुलवामा हमले में शहीद हुए सैनिकों को समर्पित काव्य समारोह का आयोजन किया । कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि शहीद अशफाक उल्लाह खाँ के प्रपौत्र श्री अशफाक उल्लाह खाँ , शमा क़ादरी , शादाब उल्लाह खाँ ने दीप प्रज्वलित कर किया। फ़ाउंडेशन की ओर से प्रथम तुलसी – मीर साहित्यिक सम्मान 2020 शहर के वरिष्ठ कवियों एवं शायरों को प्रदान कर उन्हें सम्मानित किया गया। सम्मान स्वरूप एक विशेष स्मृति चिह्न एवं अंगवस्त्र प्रदान किया गया।सम्मानित होने वाले हिंदी भाषा के कवियों और लेखकों में यह सम्मान वरिष्ठ कवि श्री ओमप्रकाश अडिग , हास्य व्यंग के बड़े कवि श्री दिनेश रस्तोगी एवं नव गीतकार कवि डॉ०प्रशांत अग्निहोत्री को मिला उर्दू शायरों में वरिष्ठ शायर श्री साग़र वारसी को इस सम्मान से सम्मानित किया गया। इसके अतिरिक्त शहर के सम्मानित पत्रकार बंधुओं को भी संस्था की ओर से विशेष उपहार आभार स्वरूप भेंट किया गया। जिनमें अमर उजाला से अजय अवस्थी , राष्ट्रीय सहारा उर्दू से राशिद हुसैन राही , इंकलाब उर्दू से अज़हर अली , हिंदुस्तान से आले नबी और युवा हस्ताक्षर से तबस्सुम हुसैन को संस्था ने उपहार भेंट किया। कार्यक्रम में तुलसी – मीर फ़ाउन्डेशन की साहित्यिक गतिविधियों और उद्देश्यों पर संस्था उपाध्यक्ष पीयूष शर्मा ने प्रकाश डाला। संस्था के अध्यक्ष इशरत शाहजहांपुरी ने कार्यक्रम में पधारे सम्मानित अतिथियों का बैज लगवाकर स्वागत किया। इस कार्य में संस्था सचिव विकास सोनी ऋतुराज और कोषाध्यक्ष विकास शर्मा पारस ने सहयोग किया। कार्यक्रम का मुख्य आकर्षण रहे दिल्ली से पधारे उर्दू के बड़े शायर फ़सीह अकमल क़ादरी एवं उनकी पत्नी श्रीमती शमा क़ादरी का संस्था के पदाधिकारियों ने विशेष सम्मान किया। मुख्य अतिथि अशफ़ाक़ उल्लाह ख़ाँ ने तुलसी – मीर फ़ाउन्डेशन द्वारा साहित्य के क्षेत्र में किये जा रहे निरंतर प्रयासों की अपने वक्तव्य में भूरि – भूरि प्रशंसा की और कहा कि संस्था हिंदी उर्दू भाषा के संयुक्त प्रचार प्रसार का माध्यम होने के साथ साथ भविष्य में राष्ट्रीय सौहार्द का भी बड़ा प्रतीक बनकर उभरेगी।इसी के साथ 14 फ़रवरी 2019 को आतंकवादियों द्वारा पुलवामा हमले में शहीद हुए भारतीय सैनिकों को समर्पित एक काव्य समागम का आयोजन कार्यक्रम का मुख्य हिस्सा रहा। जिसमें कार्यक्रम में उपस्थित शायरों और कवियों ने कवितापाठ किया।कविता पाठ करने वालों में विशेष रूप से ओम प्रकाश अडिग , साग़र वारसी , रौनक़ मुसव्विर , फ़सीह अकमल क़ादरी , दिनेश रस्तोगी , सरदार आसिफ़ , साजिद ख़ैराबादी डॉ प्रशांत अग्निहोत्री , असग़र यासिर आफ़ताब आलम कामिल वारसी , असलम तारिक़ , सरोज मिश्रा , शरीफ़ अमीन , डॉ ०समर संभली , शारिक़ अक्स संभली , एम०रिज़वान , सुधीर हिंदुस्तानी , अभिषेक ठाकुर , सबील ख़ान , मोअज़्ज़म ने गीत , ग़ज़लों कविताओं से समां बांधा और पुलवामा के शहीदों को काव्य सुमन अर्पित किये।काव्य गोष्ठी का विशेष रूप से संचालन शायर फ़हीम बिस्मिल ने किया।अधिशासी अभियंता एवं उर्दू शायर हमीद ख़िज़र ने अपने पिता के अत्यंत ख़राब स्वास्थ होने के बावजूद कार्यक्रम में थोड़े समय के लिए पधार कर विशेष रूप से फ़ाउन्डेशन को शुभकामनाएं दीं। सम्मानित अतिथि श्रोतागण में इस्लामियां इंटर कॉलेज के प्रिंसिपल मो०आमीन , समाज सेवी महबूब हुसैन इदरीसी , इरफ़ान अंसारी,इमरान सईद खाँ , यासीन मिर्ज़ा , मोहम्मद परवेज़ ( अच्छे ) , गौरव राठौर ( निदेशक स्काई टेक ) वीरेश सिंह परमार , रिज़वान सग़ीर , फ़ैज़ान इदरीसी , आसिम अंसारी , उपस्थित रहे ।तुलसी – मीर फ़ाउन्डेशन के सदस्य ज़हीर अहमद और लालित्य पल्लव का कार्यक्रम में जीवंत योगदान रहा। कार्यक्रम आयोजन में तुलसी-मीर फ़ाउन्डेशन का विशेष सहयोग आर के टेलीकॉम ( लाल इमली चौराहा ) एवं स्काई टेक कंप्यूटर संस्थान ने। अंत में तुलसी-मीर फ़ाउन्डेशन के उपाध्यक्ष पीयूष शर्मा ने सभी का आभार व्यक्त कर समापन की घोषणा की‌।

Translate »
क्रान्ति न्यूज - भ्रष्टाचार के खिलाफ क्रांति की मशाल