देशभक्ति से बड़ा कोई पद नहीं है ।

क्रांति न्यूज,ब्यूरो प्रमुख- कवि अनिरुद्ध कुमार सिंह :- गाजियाबाद – मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम जी ने कहा था कि अपि स्वर्णमयी लंका,नामे लक्ष्मण रोचते । जननी जन्मभूमिश्च स्वर्गादपि गरीयसी ।। अर्थात माता और जन्म स्थान स्वर्ग से भी बढ़कर है । इसलिए हे लक्ष्मण, मुझे सोने के लंका भी अच्छा नहीं लगता है । भगवान श्रीराम ने मर्यादा का पालन करते हुए लक्ष्मण को भी देशभक्ति का पाठ पढाये थे । लेकिन आज के सेकुलरवादी नेता मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम के अमृत संदेश को भूलकर जननी और जन्मभूमि की जगह पर अपने पद को बड़ा मानने लगे हैं । रुपए और पद के लालच में अपने देश को भी बेचने को तैयार हैं ।ऐसे नेताओं एवं नागरिकों के मन में देशभक्ति की भावना मर गए हैं। वे अपनी कुर्सी प्राप्त करने के लालच में देशद्रोहियों को अपना भाई बनाने में लगे हुए हैं ।नकली हिंदूओं ने असली हिंदूओं को फर्जी हिंदू कहना शुरू कर दिए हैं, लेकिन देशद्रोहियों के खिलाफ उन्हें एक शब्द भी बोलने की हिम्मत नहीं हैं । आजकल लोगों को श्री राम जी के नाम लेने भी शर्म आने लगे हैं । अब तो बड़े- बड़े नामी गिरामी नेताओं को मर्यादा में रहकर किसी के साथ बोलने की संस्कार मालूम नहीं है । वैसे नेताओं में राहुल गांधी, प्रियंका गांधी, सोनिया गांधी, ममता बनर्जी और केजरीवाल के नाम खासतौर पर चर्चित हैं ।इन नेताओं के पास मर्यादा या संस्कार नाम का कोई ज्ञान हीं नहीं है । वे समझते हैं कि दुनिया में पद और धन से बड़ा कुछ नहीं है । उन्हें यह पता नहीं है कि भ्रष्टाचार को खत्म करने के लिए शिष्टाचार अति आवश्यक है । लेकिन वे नेता आज श्री राम जी के मार्ग पर नहीं चलकर अत्याचारी रावण के गलत मार्ग पर चल पड़े हैं । ऐसी स्थिति में श्री राम बनकर भारत माता को गुलाम बनाने के सपने देखने वाले नेताओं को समाप्त करने की जरूरत है ।आज के नेताओं को समझना होगा कि देशभक्ति से बड़ा कोई पद नहीं है ।श्री राम से बड़ा कोई दूसरा देशभक्त नहीं, जिन्होंने जननी और जन्मभूमि के लिए सोने की लंका को भी ठुकरा दिए । परंतु आज के विशेषकर हिन्दू कहलाने वाले नेता को देशद्रोही हीं अच्छा लगते हैं । सिर्फ भारतीय जनता पार्टी और इसके सहयोगी पार्टी के नेता और कार्यकर्ता हीं सच्चे और अच्छे मन से श्रीराम के मार्ग पर चलते हुए भारत माता की सेवा ‌कर रहे हैं । बाकी अन्य पार्टी के नेता तो देशद्रोहियों के साथ ‌मिलकर देश को गुलाम बनाने की साज़िश रच रहे हैं । ऐसी स्थिति में भारत माता की रक्षा के लिए सभी देशवासियों को श्रीराम बनकर देशद्रोही रावण को फिर से खत्म करने का संकल्प लेना चाहिए ।

Translate »
क्रान्ति न्यूज - भ्रष्टाचार के खिलाफ क्रांति की मशाल