नगर निगम ने नहीं लगने दी संडे मार्किट नाराज लोगों ने मेयर अवास घेरा

नगर निगम ने नहीं लगने दी  संडे मार्किट नाराज लोगों ने  मेयर अवास घेरा --क्रान्ति न्यूज
नगर निगम ने नहीं लगने दी संडे मार्किट नाराज लोगों ने मेयर अवास घेरा –क्रान्ति न्यूज

kranti news punjab , (reporter) vishal man :- जालंधर, भगवान वाल्मीकि चौक के आसपास की सड़कों पर लगने वाले संडे बाजार को हटाने के लिए नगर निगम, पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों की जॉइंट टीम ने कार्रवाई की है। रविवार सुबह ही जॉइंट टीम ने कंपनी बाग चौक से भगवान वाल्मीकि चौक और वहां से बस्ती अड्डा और डॉ. बीआर आंबेडकर चौक रूट पर गश्त बढ़ा दी। जो रेहड़ी वाला सामान लेकर पहुंचा, उसका सामान जब्त कर लिया गया। इससे पहले यहां सड़कों पर रेहड़ी-फड़ी न लगाने की मुनादी करवाई गई। मौके पर भारी संख्या में पुलिस बल भी मौजूद है।इधर, कार्रवाई के विरोध में बड़ी संख्या में लोग मेयर जगदीश राज राजा के शक्ति नगर स्थित आवास पर पहुंच गए। वे वहां धरना दे रहे हैं। इसकी सूचना मिलते ही पुलिस फोर्स मेयर अावास पर पहुंच गई है। धरना देने वालों को थाना 4 में बुलाया गया है, जहां उनसे बातचीत जारी है। इस बीच अकाली नेता चंदन ग्रेवाल भी रेहड़ी वालों के समर्थन में थाने पहुंच गए। बातचीत के दौरान पुलिस ने सड़क पर फड़ी लगाए जाने से साफ इन्कार कर दिया है। मेयर के निर्देश पर अधिकारियों ने कहा है कि सड़कों पर संडे मार्केट नहीं लगने दी जाएगी।

इससे पहले सुबह जॉइंट टीम ने सड़कों पर रेहड़ी-फड़ी वालों का कब्जा शुरू होने से पहले ही मुनादी शुरू करवा दी। रेहड़ी-फड़ी वालों को सड़कों पर कब्जा न करने की चेतावनी दी गई। जॉइंट टीम डीसी की ओर से नियुक्त एग्जीक्यूटिव मजिस्ट्रेट की उपस्थिति में कार्य कर रही है। यानी अगर सड़कों पर से अवैध कब्जे हटाने में कोई विवाद होने या बेवजह विरोध प्रदर्शन होने पर मैजिस्ट्रेट मौके पर ही कार्रवाई के निर्देश दे सकता है।n बता दें कि नगर निगम ने तय किया है कि संडे मार्केट सिर्फ पुराने बाजारों के अंदर की लगने दी जाएगी और इसे भगवान वाल्मीकि चौक से आगे नहीं बढ़ने दिया जाएगा। कंपनी बाग चौक से लेकर भगवान वाल्मीकि चौक से बस्ती अड्डा और डॉ. बीआर अांबेडकर चौक रोड पर सड़क पर ही विक्रेताओं के सामान बेचने से ट्रैफिक जाम होता है और लोगों को परेशानी होती है, सड़कों पर यह विक्रेता पिछले कुछ महीनों से ही आए हैं। नगर निगम ने यहां दो सप्ताह पहले भी कब्जे हटाने का प्रयास किया था। हालांकि तब रेहड़ी-फड़ी वालों के विरोध और पुलिस के हाथ पीछे खींच लेने के कारण कार्रवाई स्थगित करनी पड़ी थी

Translate »
क्रान्ति न्यूज - भ्रष्टाचार के खिलाफ क्रांति की मशाल