वित्त मंत्री ने किसानों के लिए बड़ी घोषणा की-

किसानों की आय दोगुना करना के लक्ष्य 2022 तक।

11 करोड़ किसान फसल बीमा योजना।

खेती, मछली पालन पर जोर, कृषि को प्रतिस्पर्धात्मक बनाया जाएगा उनके लिए उन्नति लाई जाएगी।

पानी की कमी से संबंधित कमी देश भर में गंभीर विषय 100 जिले इससे प्रभावित। इनके लिए जरूरी उपाय किए जाएंगे।

पीएम कुसुम योजना के तहत 20 लाख किसानों को सोलर पंप दिए जाएंगे।

महिलाओं के धन लक्ष्मी योजना शुरू की जाएगी।

चलेगी किसानों के लिए रेल, जल्दी खराब होने वाली वस्तुएं जैसे कि दूछ मांस मछली के चलेगी।

कृषि विमान सेवा नागर विमानन मंत्रालय राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय रूटों पर शुरू करेगा। 

पीएम किसान के सभी पात्र केसीसी स्कीम में लाए जाएंगे।

मनरेगा को चारागार के रूप में विकसित किया जाएगा। 

2025 तक दूध प्रसंस्करण 108 मिलियन टन करने का लक्ष्य।

2020-21 के लिए 15 लाख करोड़ कृषि लोन का लक्ष्य।

वर्षा सिंचित क्षेत्रों में एकीकृत कृषि प्रणाली का विस्तार किया जाएगा

नाबार्ड की वित्तपोषण स्कीम का फिर से विस्तार किया जाएगा। 

मनरेगा को चारागाह के रूप में विकसित किया जाएगा। 

2022-23 तक मत्स्य उत्पादन बढ़ाकर 200 लाख टन करने का प्रस्ताव। 

प्रधानमंत्री किसान के सभी पात्र लाभार्थी केसीसी स्कीम में शामिल होंगे

2025 तक दूध प्रसंस्करण क्षमता दोगुना कर 108 लाख टन करने का लक्ष्य

2020-21 के लिए 15 लाख करोड़ कृषि ऋण का लक्ष्य

कृषि एवं संबद्ध क्रियाकलापों सिचाई और ग्रामीण विकास के लिए तीन लाख करोड़ रुपये का आवंटन

इंद्रधनुष मिशन का विस्तार किया गया है: वित्त मंत्री

Translate »
क्रान्ति न्यूज - भ्रष्टाचार के खिलाफ क्रांति की मशाल