निर्भया कांड के चार दोषियों को फांसी देने के लिए मेरठ का पवन जल्लाद कल यानि गुरुवार को दिल्ली जाएगा।

kranti news delhi , ( editor) danish khan :- नई दिल्ली उम्मीद है कि तिहाड़ प्रशासन ही पवन को अपनी निगरानी में मेरठ से लेकर जाएगा। हालांकि पवन को दिल्ली पहुंचाने के लिए मेरठ के जेल प्रशासन ने भी अपने स्तर पर तैयारियां की हैं।

पिछले दिनों दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने निर्भया के चार दोषियों का डेथ वारंट जारी किया था। इन्हें एक फरवरी की सुबह 6 बजे दिल्ली की तिहाड़ जेल में फांसी दी जानी है। दिल्ली, उत्तराखंड, हरियाणा, पंजाब सहित आसपास के राज्यों में जल्लाद उपलब्ध नहीं हैं। केवल उप्र कारागार सेवाओं के पास दो जल्लाद हैं। इनमें मेरठ से पवन और लखनऊ से इलियास हैं। इलियास की तबीयत फिलहाल खराब है। इसलिए उप्र कारागार सेवाओं ने मेरठ के पवन जल्लाद के नाम पर मुहर लगा दी थी। पवन को पहले ही तिहाड़ से बुलावा आ चुका है।

मेरठ जेल के अधीक्षक डॉ. बीडी पांडेय ने बताया कि पवन जल्लाद गुरुवार को तिहाड़ जेल नई दिल्ली चला जाएगा। वह दो दिन तक तिहाड़ में रहकर फांसी से जुड़ी तैयारियां पूरी करेगा। इसमें फांसी के फंदे तैयार करने, मानवरूपी पुतलों को फांसी पर चढ़ाने से लेकर प्लेटफॉर्म की सभी तैयारियां शामिल हैं। बताया जा रहा है कि तिहाड़ जेल के सुरक्षाकर्मी ही पवन को लेने मेरठ आएंगे। जेल अधीक्षक ने कहा कि यदि वे नहीं आते हैं तो मेरठ जेल प्रशासन पवन को दिल्ली तक पहुंचाएगा।

फांसी देने को तैयार : पवन

पवन जल्लाद ने ‘क्रांति न्यूज़ एडिटर दानिश खान’ से बातचीत में कहा कि निर्भया के दोषियों को फांसी पहले दे दी जानी चाहिए थी। पूरे देश को इसका इंतजार है। अब दोषियों के वकील फांसी में अड़ंगा डालने की पूरी कोशिश कर रहे हैं। पवन ने कहा कि वह चारों दोषियों को फांसी पर चढ़ाने के लिए पूरी तरह तैयार है। चारों को एकसाथ फांसी देने में सक्षम है। इसके लिए आवश्यक तैयारियां पहले ही कर चुका है। बाकी तैयारियां तिहाड़ में जाकर पूरी होंगी।

पवन है पुश्तैनी जल्लाद

पवन जल्लाद मेरठ में कांशीराम आवासीय कॉलोनी का रहने वाला है। उसे उप्र कारागार सेवाओं की तरफ से पांच हजार रुपये प्रतिमाह मानदेय मिलता है। वह देश के पुश्तैनी जल्लादों में से एक है। पवन के परदादा से अब तक की पीढ़ियां फांसी देने के काम को आगे बढ़ाए हुए हैं।

Translate »
क्रान्ति न्यूज - भ्रष्टाचार के खिलाफ क्रांति की मशाल