जल्द ही टोल प्लाजा पर जेब होगी कम ढीली, सरकार कर रही है टोल दरें कम करने की तैयारी

देशभर के सभी टोल प्लाजा पर अगले साल से टोल की दरें कम करने की तैयारी की जा रही है। इसके लिए केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्रालय ने टोल दरें कम करने के लिए ड्राफ्ट भी तैयार कर लिया है। सरकार फिलहाल कुल किमी के दस गुना के हिसाब से टोल टैक्स वसूलती है। वहीं इसमें संशोधन होने से आम जनता की जेब पर कम बोझ पड़ेगा। 

अब पांच गुना वसूला जाएगा टैक्स

एनएचएआई के अधिकारियों के मुताबिक सड़क, परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय टोल टैक्स की दरों में कटौती करने जा रहा है। इसके लिए मसौदा भी तैयार हो चुका है। सूत्रों का कहना है कि पहले स्ट्रक्चर की लंबाई के अनुसार दस गुना टैक्स वसूला जाता था लेकिन अब नया नियम आने पर पांच गुना टैक्स वसूला जाएगा।  

ये है टोल का गणित

अगर किसी एक्सप्रेस-वे पर सात किलो मीटर लंबी एलिवेटेड रोड है, तो दस गुना के हिसाब से चालकों से 70 किलोमीटर का टोल वसूला जाता था। लेकिन अब नए नियम के अनुसार चालकों से पांच गुना के हिसाब से ही टोल वसूला जाएगा। यानी अब चालक 35 किमी का ही टोल देंगे। टोल की दरें सिर्फ एलिवेटेड रोड और फ्लाईओवर के लिए ही कम की जाएंगी। वहीं, सामान्य सड़कों के लिए टोल दरों में में कोई बदलाव नहीं किया जाएगा।

एनएचआई अधिकारी ने क्या कहा?

एनएचआई अधिकारी ने नए टोल नियमों को लेकर कहा कि इस साल के आखिर में या अगले साल के शुरुआत में इसे लागू कर दिया जाएगा। इस नियम के आने के बाद लोगों को टोल भरने में काफी राहत मिलने वाली है। सरकार अगर यह नियम लागू करती है तो शहरों के अंदर बनी एलिवेटेड रोड्स पर काफी सहूलियत मिलेगी और लोगों को कम पैसे खर्च करने पड़ेंगे। साथ ही सड़कों पर से बोझ भी कम होगा। क्योंकि लोग पैसे बचाने के चक्कर में एलिवेटेड रोड्स का इस्तेमाल नहीं करते हैं, तो इससे उनका प्रयोग करने वालों की संख्या बढ़ेगी।     

Translate »
क्रान्ति न्यूज - भ्रष्टाचार के खिलाफ क्रांति की मशाल