SBI से ज्यादा मिल रहा है पोस्ट ऑफिस के इस खाते में ब्याज, ऐसे उठाएं फायदा

SBI से ज्यादा मिल रहा है पोस्ट ऑफिस के इस खाते में ब्याज, ऐसे उठाएं फायदा

SBI से ज्यादा मिल रहा है पोस्ट ऑफिस के इस खाते में ब्याज, ऐसे उठाएं फायदा

नई दिल्ली. लंबे समय तक लगातार थोड़े-थोड़े निवेश के ​लिए सबसे बेहतर विकल्प में से एक रिकरिंग डिपॉजिट (Recurring Deposit) है. RD की मदद से आप हर महीने मामूली बचत भी कर सकते हैं. रिकरिंग डिपॉजिट अकाउंट (RD Account) को आप किसी बैंक या पोस्ट ऑफिस (Post Office) में खोल सकते हैं. हालांकि, बैंकों के तुलना में पोस्ट ऑफिस में RD पर अधिक ब्याज मिल रहा है. वर्तमान में, भारतीय स्टेट बैंक (SBI) RD पर 6.10 फीसदी की दर से ब्याज दे रहा. वहीं, पोस्ट ऑफिस में ​RD पर 7.20 फीसदी की दर से ब्याज मिल रहा है.

पोस्ट ऑफिस डिपॉजिट्स (Post Office Deposits) पर मिलने वाले ब्याज को वित्त मंत्रालय (Ministry of Finance) तिमाही आधार पर रिवाइज करता है.
चालू वित्त वर्ष की चौथी तिमाही में लिए वित्त मंत्रालय ने ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया है. इसका मतलब है कि 31 मार्च 2020 तक पोस्ट ऑफिस की RD पर आपको 7.20 फीसदी की दर से ब्याज मिल रहा है.
ऐसे में अगर आप RD पर बेहतर ब्याज पाना चाहते हैं तो आपको पोस्ट ऑफिस में रिकरिंग डिपॉजिट जरूर खोल लेना चाहिए. आइए जानते हैं कि पोस्ट ऑफिस रिकरिंग ​डिपॉजिट समय आपको किन बातों को ध्यान में रखना चाहिए. कैसे खोलें अकाउंट: पोस्ट ऑफिस रिकरिंक डिपॉजिट स्कीम के तहत अकाउंट खोलने के लिए आपको हर महीने कम से कम 100 रुपये इन्वेस्ट करना होगा. यह रकम 10 रुपये के मल्टीपल में कितनी भी अधिक हो सकती है.
रेट ऑफ रिटर्न: चालू वित्त वर्ष की चौथी तिमाही के लिए पोस्ट ऑफिस के रिकरिंग डिपॉजिट पर आपको 7.2 फीसदी की दर से ब्याज मिल रहा है. अगर आप पांच साल के लिए रिकरिंग डिपॉजिट अकाउंट में हर महीने कम से कम 10 रुपये का निवेश करते हैं मैच्योरिटी पर आपको 72.50 रुपये मिलेंगे.
पोस्ट ऑफिस RD 5 साल की अवधि के लिए होता है. यह अवधि अकाउंट खोलने के दिन से अगले पांच साल के लिए होगी. आप चाहें तो इस अवधि को अगले 5 साल के लिए और बढ़ा सकते हैं. इसके लिए आपको पहले पांच साल की अवधि में ही एक एप्लीकेशन दाखिल करना होगा.
अधिकतम कितना निवेश कर सकते हैं: पोस्ट ऑफिस रिकरिंग डिपॉजिट में अधिकतम निवेश की कोई अधिकतम लिमिट नहीं है. ऐसे में अगर आप जितना चाहें, उतना अधिक निवेश कर सकते हैं.
कैसे कर सकते हैं पेमेंट: इसमें आप कैश या चेक के जरिए पेमेंट कर सकते हैं. इंडिया पोस्ट की आधिकारिक वेबसाइट के मुताबिक, अगर आपने किसी महीने की 15 तारीख से पहले अकाउंट खोलते हैं तो अगले महीने के लिए आपको 15 तारीख से पहले ही पेमेंट करना होगा. साथ ही, अगर किसी महीने की 16 तारीख के बाद अकाउंट खोला जाता है तो अगले महीने के लिए आप उस महीने की अंतिम तारीख तक पेमेंट कर सकते हैं. आप चाहें तो इंट्राऑपरेबल नेटबैंकिंग या मोबाइल बैंकिंग के जरिए भी पेमेंट कर सकते हैं.
निकासी: इस स्कीम में आप मैच्योरिटी से पहले भी निकासी कर सकते हैं. अकाउंट खोलने के एक साल के बाद आप कुल निवेश का 50 फीसदी हिस्सा निकाल सकते हैं. यह ब्याज की रकम के साथ लम सम रकम होगा, जिसे आप एक साल के बाद किसी भी समय में निकाल सकते हैं.

Translate »
क्रान्ति न्यूज - भ्रष्टाचार के खिलाफ क्रांति की मशाल