एचडीएफसी लिमिटेड (HDFC Limited) ने अपने ग्राहकों को नए साल का तोहफा देते हुए ब्याज दरें घटाने का फैसला किया है।

मुंबईः अगर आप होम लोन लेने की सोच रहे हैं तो आपके लिए एक अच्‍छी खबर है। दरअसल, देश की सबसे बड़ी फाइनेंस कंपनी एचडीएफसी लिमिटेड (HDFC Limited) ने अपने ग्राहकों को नए साल का तोहफा देते हुए ब्याज दरें घटाने का फैसला किया है। ब्याज दरें 0.05 फीसदी तक घटा दी है। इस फैसले के बाद होम, ऑटो और पर्सनल लोन की EMI घट जाएगी। वहीं, नए कस्टमर्स के लिए लोन लेना सस्ता हो जाएगा। आपको बता दें कि हाल में SBI और ICICI बैंक ने भी कर्ज की ब्याज दरों में कटौती करने का ऐलान किया था।
कंपनी की ओर से जारी बयान में बताया गया है, “HDFC लिमिटेड ने सभी अवधि के लिए ब्याज दरें 0.05 फीसदी तक घटाने का फैसला किया है। इससे ग्राहकों की लोन ईएमआई में 0.05 फीसदी की कमी आएगी यानी हर महीने करीब 0.05 फीसदी की बचत होगी। नई दरें 6 जनवरी से 2020 से लागू होंगी।” यहां बता दें कि HDFC अपने होम लोन पर रेट्स को रिटेल प्राइम लेंडिंग रेट के आधार पर तय करता है। बहरहाल, HDFC की नई दरें 8.20 फीसदी से 9 फीसदी के दायरे में रहेंगी। वहीं बैंक का यह फैसला नए और पुराने दोनों तरह के ग्राहकों के लिए लागू होगा।
6 जनवरी 2020 से अगर कोई महिला ग्राहक 30 लाख रुपए का होम लोन लेती है तो उसके लिए दरें अब घटकर 8.05 फीसदी पर आ गई है। वहीं, महिलाओं के लिए 30-75 लाख रुपए तक के होम लोन की दरें 8.3 फीसदी है। इसके अलावा, 75 लाख रुपए से ज्यादा के होम लोन की दरें 8.4 फीसदी है। आपको बता दें कि महिलाओं के लिए मुकाबले पुरुषों के लिए होम लोन की दरें 0.05 फीसदी अधिक है
ICICI बैंक ने की कटौती
इससे पहले ICICI बैंक ने सभी अवधि के लिए ब्याज दरें 0.05 फीसदी तक घटाने का फैसला किया है। इससे ग्राहकों की लोन ईएमआई में 0.05 फीसदी की कमी आएगी यानी हर महीने करीब 0.05 फीसदी की बचत होगी।

SBI ने भी ब्‍याज दर में की है कटौती
इससे पहले भारतीय स्टेट बैंक ने भी होम और ऑटो लोन पर ब्‍याज दरें कम कर दी हैं। अब नए मकान खरीदने वालों को बैंक 7.90 फीसदी की ब्याज दर पर लोन देगा। पहले ब्याज दर 8.15 फीसदी थी। बैंक ने एक्सटर्नल बेंचमार्क बेस्ड रेट (EBR) को 8.05 फीसदी से घटाकर 7.80 फीसदी कर दिया है। यह एक आधार दर है जो इस बात का सूचक होता है कि लोन की दर इससे कम नहीं हो सकती।

Translate »
क्रान्ति न्यूज - भ्रष्टाचार के खिलाफ क्रांति की मशाल