तीन मौतों की गुत्थी सुलझाने को पुलिस खंगाल रही सीडीआर, कारोबारी के मोबाइल से मिली अहम जानकारी

आरएस बुलियन कंपनी के मालिक नीरज अग्रवाल, उनकी पत्नी नेहा और बेटी धान्या की मौत से व्यापारी वर्ग स्तब्ध है। जिस हालात में तीनों के शव कार में मिले थे, उससे मौत की गुत्थी उलझ गई है। कार से पिस्टल, सुसाइड नोट मिलने से पुलिस आत्महत्या से भी इंकार नहीं कर रही है। वहीं कारोबारी के मोबाइल से पुलिस को चौंकाने वाली जानकारी मिली है।

बुलियन कारोबारी नीरज अग्रवाल के मोबाइल से छह आउट गोइंग और इनकमिंग कॉल की डिटेल डिलीट की गई है। माना जा रहा है कि यह कॉल कारोबारी की हत्या के बाद या फिर उससे पहले डिलीट हुईं। अब पुलिस सीडीआर निकलवाकर इन नबंरों की छानबीन में जुटी हुई है।

एक जनवरी को वृंदावन कट के पास झज्जर अंडरपास के नीचे लावारिस खड़ी कार में खून से लथपथ बुलियन कारोबारी और उसका परिवार मिला था। शीशे तोड़कर निकाला तो कारोबारी नीरज अग्रवाल, पत्नी नेहा और बेटी धान्या की मौत हो चुकी थी, वहीं बेटे शौर्य की सांस चल रही थी।

पुलिस ने आनन फानन में शौर्य को भर्ती कराया। फिलहाल उसका इलाज दिल्ली में चल रहा है। पुलिस की जांच में यह सामने आया है कि बुलियन कारोबारी के मोबाइल से छह या सात कॉल आउट गोइंग और इनकमिंग में डिलीट की गई है। आखिर यह कॉल किसको की गई और किसकी आईं।

पुलिस फिलहाल मोबाइल की सीडीआर खंगालकर मोबाइल से मिलान करने में जुटी है। अब सवाल खड़ा होता है कि यह कॉल डिलीट हत्या से पहले की गई या फिर हत्या की बाद की गई। फिलहाल पुलिस कुछ भी बोलने को तैयार नहीं र्है। प्रभारी निरीक्षक राजित वर्मा ने बताया कि कारोबारी के मोबाइल से कॉल डिलीट तो हुई हैं। सीडीआर से यह सच सामने आ सकेगा।

Translate »
क्रान्ति न्यूज - भ्रष्टाचार के खिलाफ क्रांति की मशाल