तीनों सेनाओं की झलक कंधे पर अशोक

देश के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत आज पद संभालेंगे वह सुबह 10 बजे साउथ ब्लॉक में तीनों सेनाओं की तरफ से गार्ड ऑफ ऑनर का निरीक्षण करेंगे सीडीएस का ऑफिस भी साउथ ब्लॉक में ही होगा जनरल रावत पद संभालेंगे तो वह आर्मी की ओलिव ग्रीन रंग की यूनिफॉर्म में तो होंगे लेकिन उस यूनिफॉर्म में जो रैंक बैज और लोगो लगे होंगे वह तीनों सेनाओं (आर्मी, नेवी और एयरफोर्स) को दर्शाएंगे सीडीएस की यूनिफॉर्म उनकी पैरंट सर्विस वाली होगी। यानी सीडीएस बनने के बाद भी जनरल रावत ओलिव ग्रीन यूनिफॉर्म में दिखेंगे अगर कभी एयरफोर्स या नेवी से सीडीएस बने तो उनकी बेसिक यूनिफॉर्म भी उनकी अपनी सर्विस की ही रहेगी लोगो और बैच ट्राई सर्विस *(तीनों सेना) को दिखाते हैं सीडीएस के कैप में, जो लोगो होगा उसमें सेना का बेटन और क्रॉस सॉर्ड, एयरफोर्स का गरुण और नेवी का एंकर होगा कार फ्लैग में भी तिरंगे के साथ यह लोगो होगा फ्लैग मरून कलर का होगा कंधे पर लगी पट्टी भी मरून कलर की होगी जिसमें अशोक स्तंभ और ट्राई सर्विस वाला लोगो होगा।
Army Chief General Bipin Rawat briefs media after he received his farewell Guard of Honour as the Army Chief.
‘I convey my best wishes to General Manoj Naravane who’ll become the next Army Chief’, says Army Chief General Bipin Rawat.

CDS के तौर पर जिम्मेदारी।
सरकार को एक सूत्रीय सैन्य सुझाव उपलब्ध कराना
देश के सामरिक संसाधनों और परमाणु शस्त्रागार का बेहतर प्रबंधन
आर्मी, नेवी और वायु सेना के बीच बेहतर समन्वय स्थापित करना, इंटर
सर्विस मुद्दों को सुलझाना लंबे समय की रक्षा योजना और खरीद प्रक्रिया को कारगर बनाना
रक्षा मंत्रालय और सर्विस हेडक्वार्टर के बीच समन्वय करना और नागरिक प्रशासन सैन्य विभाजन को कम करना

इतिहास
1999 के करगिल युद्ध के बाद ग्रुप ऑफ मिनिस्टर ने इस पद के लिए मजबूती से मांग उठाई थी।

वैश्विक परिदृश्य
दुनिया के 70 से ज्यादा देशों (अमेरिका, ब्रिटेन, फ्रांस, जर्मनी जैसे देश) में चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जैसी पोस्ट है जो सैन्य तैयारियों को एकीकृत करने का काम करती है।

आयु : 62 डिफेंस सर्विस स्टाफ कॉलेज, वेलिंगटन के पूर्व छात्र
जनरल बिपिन रावत ऊंचाई के भारत के पहले चीफ़ ऑफ़ डिफेंस स्टॉप
उचाई के युद्ध क्षेत्र और उग्रवाद के ख़िलाफ़ ऑपरेशनों में ज़बरदस्त अनुभव।

ऐसी रही जिंदगी
16 दिसंबर, 1978: 11 गोरखा राइफल की 5वीं बटालियन में नियुक्ति
1 सितंबर-31 दिसंबर 2016 : देश के 37वें उप सेना प्रमुख रहे।
31 दिसंबर 2016 : देश के 27वें आर्मी चीफ का पद संभाला।
27 सितंबर 2019 : चीफ ऑफ स्टाफ कमिटी के 32वें चेयरमैन नियुक्त किए गए।
आज पद संभालेंगे
कुछ ऐसी होगी सीडीएस की कैप।

सीडीएस का शोल्डर बैच ऐसा होगा।
सीडीएस की वर्किंग ड्रेस में ऐसे होंगे बटन।
सीडीएस के कार का फ्लैग कुछ ऐसा होगा।
31 दिसंबर को आर्मी चीफ पद से रिटाय हुए थे।
आज चार्ज संभालेंगे देश के पहले सीडीएस जनरल बिपिन रावत

आर्मी यूनिफॉर्म ही पहनेंगे पर रैंक बैज और लोगो होगा नया।

यूनिफॉर्म में नया लोग तीनों सेनाओं का होगा प्रतीक।
थिएटर कमांड बजट क़ा बंटवारा अहम
सीडीएस की जिम्मेदारी संभालने के बाद जल्द ही सेना की थिएटर कमांड की स्टडी पर भी काम शरू हो जाएगा थिएटर कमांड में आर्मी, नेवी और एयरफोर्स के सभी संसाधन और मैनपावर एक ऑपरेशनल कमांडर के तहत होंगी सीडीएस का काम तीनों सेनाओं को मिलने वाले बजट में प्राथमिकता भी तय करना है तीनों सेनाओं के लिए साजो सामान खरीद के जो प्रपोजल आएंगे उनमें जरूरत के हिसाब से सीडीएस प्राथमिकता तय करेंगे।

जनरल रावत बोले हमारी सेना पहले से  बेहतर तैयार।

जनरल एम एम नरवणे ने मंगलवार को 28वें इंडियन आर्मी के नए चीफ का पद संभाला अपने विदाई संदेश में जनरल बिपिन रावत ने अपने तीन साल कार्यकाल और नई चुनौतियों के बारे में बताया जनरल रावत ने कहा कि चीन और पाक सीमा पर चुनौतियों से निपटने के लिए के लिए पहले की तुलना में हमारी सेना बेहतर तैयार है जनरल रावत ने नए आर्मी चीफ मनोज मुकुंद नरवणे को बधाई देते हुए उन्हें काफी योग्य अधिकारी बताया उन्होंने कहा मुझे भरोसा है कि वह सेना को नई ऊंचाई पर ले जाएंगे वह शानदार अधिकारी हैं काफी योग्य हैं आर्मी चीफ की बेटन जनरल नरवणे को हैंडओवर करने से पहले जनरल रावत ने कहा कि सीडीएस पद केवल एक ओहदा है और कहा कि सफलता के पीछे जवानों और अधिकारियों का सहयोग होता है।उन्होंने कहा कोई भी पद सिर्फ एक व्यक्ति के प्रयास से सफल नहीं हो सकता जनरल रावत अगर आर्मी चीफ बनता है तो उसे सभी विभागों से पूरा सहयोग मिला सबको मिलकर काम करना होगा तभी सफल होंगे विदाई संदेश से पहले जनरल रावत को साउथ ब्लॉक स्थित सेना मुख्यालय में गार्ड ऑफ ऑनर भी दिया गया।

Translate »
क्रान्ति न्यूज - भ्रष्टाचार के खिलाफ क्रांति की मशाल