डोनाल्‍ड ट्रंप के खिलाफ महाभियोग पर उनकी ही रिपब्लिकन पार्टी में उठने लगे विद्रोह के स्वर

वाशिंगटन, आइएएनएस। अमेरिका में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पर महाभियोग के सवाल पर उनकी रिपब्लिकन पार्टी में असंतोष के स्वर उठने लगे हैं। अलास्का से पार्टी की सीनेटर लीजा मर्कोस्की ने कहा है कि महाभियोग पर पार्टी के रुख से वह व्यथित हैं। सीनेट में पार्टी के नेता मिच मैककॉनेल के व्हाइट हाउस से पूरी तरह से समन्वय स्थापित होने के बयान से लीजा असहमत हैं। वह महाभियोग के आरोपों पर गुण-दोष के आधार पर निर्णय लिए जाने की पक्षधर हैं।

एक न्यूज चैनल से साक्षात्कार में लीजा ने कहा, उन्होंने जबसे मैककॉनेल के बयान को सुना है, तभी से वह व्यथित और परेशान हैं। आरोपों पर ध्यान दिए बगैर क्या हमें केवल राष्ट्रपति का बचाव करना चाहिए? लीजा सीनेट में महाभियोग उचित प्रक्रिया और गुण-दोष के आधार पर चलाए जाने की पक्षधर हैं। लीजा को प्रगतिवादी रिपब्लिकन माना जाता है। वह पहले भी कई मौकों पर राष्ट्रपति ट्रंप की नीतियों की आलोचना कर चुकी हैं।

अक्टूबर 2018 में उन्होंने ट्रंप के मनोनीत व्यक्ति को सुप्रीम कोर्ट भेजे जाने के खिलाफ वोट दिया था। उस व्यक्ति पर महिला से यौन र्दुव्‍यवहार का आरोप था। उल्लेखनीय है कि प्रतिनिधि सभा ट्रंप के खिलाफ महाभियोग का प्रस्ताव पारित कर चुकी है। प्रतिनिधि सभा में विपक्षी डेमोक्रेटिक पार्टी का बहुमत है।

जनवरी में यह प्रस्ताव सीनेट (उच्च सदन) में लाया जाएगा जहां रिपब्लिकन पार्टी का बहुमत है। मालूम हो कि 100 सीटों वाली सीनेट में रिपब्लिकन पार्टी के 53 सांसद जबकि विरोधी डेमोक्रेट पार्टी के 47 सांसद हैं। अमेरिकी राष्‍ट्रपति ट्रंप को हटाने के लिए डेमोक्रेट्स को दो-तिहाई बहुमत की जरूरत होगी जो उनके पास नहीं है। सीनेट में महाभियोग के प्रस्‍ताव को मंजूरी तभी मिलेगी जब ट्रंप के खिलाफ 67 सांसद मतदान करें जो ट्रंप की पार्टी रिपब्लिकन के 20 सांसदों की बगावत के बाद ही मुमकिन होगा। फ‍िलहाल, इसकी आशंका नहीं है।

posted by kranti news

Translate »
क्रान्ति न्यूज - भ्रष्टाचार के खिलाफ क्रांति की मशाल