झारखंडी आदिवासीयो से देश के आदिवासीयो को कुछ सीखना चाहिए

kranti news beauro :-साथियो हम सभी जानते है कि पथलगड़ी समर्थित क्षेत्र झारखंड के आदिवासिय्यो ने राजनीतिक नेतृत्व पर विश्वास कर लोकतंत्र का सम्मान किया है और आज लोकतंत्र के बल पर देश मे झारखंड का नाम रोशन किया है।यह उन लोगो के मुह पर भी तमाचा है जो राजनीतिक नेतृत्व को गलत ठहराते है जबकि वहां के आदिवासी भी लोकतंत्र के खिलाफ जा सकते थे लेकिन लोकतांत्रिक देश मे लोकतंत्र ही सभी समस्याओं का समाधान है।सबसे पिछड़े अनपढ़ आदिवासी राज्य की आदिवासी जनता ने पड़े लिखे लोगो को पीछे छोड़ एक नया इतिहास रचा है।निश्चित ही वे ही विकास के असली हकदार है।।राजनीतिक के बल पर ही हम राजा हो सकते है और हमारे वर्ग के श्री हेमंत सोरेन लोकतंत्र के बल पर आदिवासी राजा कहलाने के हकदार है। इस बात को देश के सभी आदिवासिय्यो को गहराई से समझना चाहिए।।आज लगभग पूरा आदिवासी समुदाय झारखंड की जीत पर काफी खुसी महसूस कर रहा है।साथियो हमारी किसी से कोई व्यक्तिगत बुराई नही है न ही कोई वैमनस्यता है पर जो वर्तमान में सत्य है उसे मानना ही पड़ेगा।।राजनीतिक के बिना हम कुछ नही कर सकते है।अगर अधिकार पाना है तो सही रास्ते से जाएंगे तो कोई नही रोक पायेगा हमे।।डॉ भीमराव अंबेडकर जी व जयपालसिंह मुंडा जी भी राजनीतिक के पक्षधर थे उन्होंने कहा भी है कि लोकतंत्र ही वह चाबी है जिससे विकास के दरवाजे खुले सकते है।।इसलिए वक्त की नजाकत को समझिए ।

Translate »
क्रान्ति न्यूज लाइव - भ्रष्टाचार के खिलाफ क्रांति की मशाल