सरकारी नियमों के विरुद्ध होटल, ढाबों, रेस्टोरेंटों में शराब पार्टी हुई तो पीने और पिलाने वाले दोनों फंसेंगे: वरुण कुमार (ज़िला आबकारी अधिकारी)

आबकारी निरीक्षकों ने कसी क़मर, सेलिब्रेशन के 36 घण्टो पहले अभियान तेज़….

सहारनपुर:- नया साल सेलिब्रेट करने 31 दिसंबर रात का शराब पार्टी का प्लान कर रहे लोगों ने सरकारी नियमों व कोविड-19 की गाइडलाइन का ध्यान नहीं रखा तो उनके लिए नए साल 2021 का आगाज खराब हो सकता है, आबकारी विभाग की टीम और पुलिस दोनों की पैनी नजर नए साल की उन जगहों पर रहेगी जहां पर दारु पार्टी चल रही होगी, जिनमें से शहर के भीतर और बाहर के होटल,रेस्टोरेंट और ढाबों पर विशेष निगाह रहेगी, जहां पर आबकारी विभाग की टीमों द्वारा छापामार कार्रवाई भी की जा सकती है, जिन भी होटल रेस्टोरेंट और ढाबों पर बिना आकस्मिक लाइसेंस के शराब परोसी गई या किसी को पीने की अनुमति दी गई तो संचालकों के खिलाफ आबकारी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया जाएगा, हर साल नए साल की सेलिब्रेशन पार्टियों में कई होटलों,रेस्टोरेंटों और ढाबों पर लाइसेंस लिए बिना ही अवैध रुप से शराब पिलाई जाती है, इस बार इसको लेकर आबकारी विभाग ने सख्त रवैया अपना लिया है, अवैध रुप से शराब पार्टी करने वाले और कराने वालों पर शिकंजा कसा जाएगा और छापामारी के लिए अलग से टीमें गठित की गयी है, जिसमें कुछ टीमें हरियाणा बॉर्डर पर चौकसी बरत रही है, यहां शराब तस्करों पर पैनी नजर रखी गयी है, जनपद में भी नगर व ग्रामीण क्षेत्रों में भी अवैध शराब व मिलावट के विरुद्ध भी चैकिंग अभियान ज़ारी है।
आबकारी विभाग की ग्रामीण क्षेत्रों में भी रहेगी निगरानी….
आबकारी विभाग के जिला अधिकारी वरुण कुमार ने बताया कि इस बार हमने सख्त रवैया इसलिए अख्तियार किया है कि होटल और रेस्टोंरेंट वालों के यहां नए वर्ष के सेलिब्रेशन पर शराब पार्टियां होती है, इस बार किसी भी तरह से इन गतिविधियों को बिना लाइसेंस अंजाम न दिया जाए इसलिए हमने शहर से लेकर ग्रामीण स्तर पर अपने कर्मचारियों की टीम गठित की है जो कड़ी निगरानी रख रही है, अवैध शराब व मिलावटी शराब के विरुद्ध अभियान ज़ारी है इसके साथ ही ओवररेटिंग को लेकर भी लगातार अभियान चलाया जा रहा है, जनपद में किसी भी तरह की अवैध शराब, मिलावट व ओवररेटिंग बर्दास्त नही की जाएगी, आबकारी निरीक्षकों द्वारा अनुज्ञापी दुकानों को लगातार चैक किया जा रहा है।

Translate »
क्रान्ति न्यूज लाइव - भ्रष्टाचार के खिलाफ क्रांति की मशाल