शहडोल जिले में दण्ड प्रक्रिया संहिता की धारा 144 प्रभावशील

शहडोल 18 दिसम्बर 2019ः- कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री ललित दाहिमा द्वारा पुलिस अधीक्षक के प्रतिवेदन के आधार पर शहडोल जिले में शांति एवं कानून व्यवस्था तथा लोक परिश्ंाति सुनिश्चित करने के उदेश्य से तथा कानून व्यवस्था एवें शांति बनाने रखने के दृष्टि से लोक हित में दण्ड प्रक्रिया की धारा 144 के अन्तर्गत शहडोल जिले की सीमा में किसी भी स्थल पर बिना अनुमति के किसी प्रकार के जुलूस, मौन जूलूस, रैली, सभा, धरना प्रदर्शन को पूर्णतः प्रतिबंधित कर दिया गया है। कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी द्वारा जारी आदेश में कहा गया है, अनुमाति उपरांत हेाने वाले उक्त आयोजनों में कई कृत प्रतिबंधित रहेगें। कलेक्टर ने सार्वजानिक स्थलों पर सभी प्रकार के अस्त्र-शस्त्र आग्येनशास्त्र धारण करने तथा उनका प्रदर्शन पूर्णतः प्रतिबंधित कर दिया गया है। माननीय न्यायाधिपति न्यायाधीश, प्रशासनिक अधिकारी, शासकीय अभिभाषक, सुरक्षा एवं अन्य किसी शासकीय कर्तव्य पालन के समय ड्यूटी पर लगाये गए सुरक्षा बलों एवं अर्थ सैनिक बालों , विशिष्ट व्यक्तियों, अधिकारियो की सुरक्षा में लगाये गए पुलिस कर्मी, बैंक गार्ड उक्त प्रतिबंध से मुक्त रहेगें, आदेश में कहा गया है कि किसी प्रकार के काटआउट बैनर पोस्टर, होर्डिग्स झण्डे आदि जिन पर किसी भी धर्म, व्यक्ति, सम्प्रदाय जाति, समुदाय के विरूद्व नारे या अन्य भडकाउ भाषण का इस्तेमाल किया गया हो का प्रकाषान एंव उसका किसी भी स्थल( नीजि एवं सार्वजानिक स्थल) पर प्रदर्शन पूर्णतः प्रतिबंधित रहेगा। उक्त क्षेत्र में उपरोक्त अवधि में लाठी, सोडा वाटर व काॅच की बोतले, ईटों के टूकडे पत्थर एवं एसिड का संग्रहण एवं साथ लेकर चलना वर्जित रहेगा। आदेश में कहा गया है कि पर्याप्त समय न होने तथा उक्त प्रतिबंध लगया जाना अत्यन्त आवश्यक होने से उक्त आदेश की व्यक्तिगत तामीली तथा आम जन की सुनवाई संभव नही है। उक्त आदेश एकपक्षीय किया जाकर आम जन की सूचना हेतु दैनिक समाचार पत्र, इलेक्ट्रानिक मीडिया में प्रकाशित प्रचारित कराया जा रहा है। आदेश के उल्लंघन की दशा में भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 एवं अन्य दण्डात्मक प्रवाधानों के अन्तर्गत संबंधित के विरूद्व कार्यवाही की जायेगी। यह आदेश 31 जनवरी 2020 की रात्रि 12 बजे तक प्रभावशील रहेगा। तथा उक्त प्रभावशील अवधि में उक्त आदेश का उल्लघन धारा 188 भारतीय दण्ड विधान के अन्तर्गत दंडनीय अपराध की श्रेणी में आवेगा।

Translate »
क्रान्ति न्यूज लाइव - भ्रष्टाचार के खिलाफ क्रांति की मशाल