सभी आंगनवाड़ी केन्द्रों में 100 प्रतिशत पानी की स्पलाई करने वाला पंजाब का पहला जिला बना: ADC विशेष सारंगल

जालंधर ,(विशाल)- जिला जालंधर ने गुरूवार को एक और सफलता हासिल की। जिले के सभी आंगनवाड़ी केन्द्रों में 100 प्रतिशत पीने वाले पानी की सप्लाई के कनैक्शनों को यकीनी बनाने वाला पंजाब का पहला ज़िला बन गया है। इस बारे में ज्यादा जानकारी देते हुए अतिरिक्त डिप्टी कमिश्नर (विकास) विशेष सारंगल जिन्होंने अलग-अलग विभागों की टीम, जिसमें सामाजिक सुरक्षा, महिला और बाल विकास विभाग, जल स्पलाई और सैनिटेशन और ग्रामीण विकास और पंचायत विभाग शामिल हैं, का नेतृत्व किया और बताया कि सभी आंगनवाड़ी केन्द्रों को सुरक्षित और साफ पानी उपलब्ध करवाने की यह 100 दिनों विशेष अभियान 2 अक्तूबर 2020 को जल जीवन मिशन (जेजेएम) प्रोग्राम अधीन शुरू की गई थी।उन्होनें बताया कि इस अभियान का उदेश्य केन्द्रों में पीने वाले पानी की पहुंच के साथ बच्चों और सभी के स्वास्थ्य की सुरक्षा के लिए सभी केन्द्रों को पाईप वाले पानी की स्पलाई को यकीनी बनाना है। उन्होनें बताया कि इस अभियान की शुरूआत के अवसर पर फील्ड का निरीक्षण किया और उनको रिपोर्ट मिली कि जालंधर में 184 आंगणवाड़ी केंद्र बिना पानी के क्नैक्शन के हैं। उन्होनें कहा कि राज्य सरकार के आदेशों पर सभी 184 स्थानों पर तुरंत काम शुरू किया गया और विभागों के मुखियों के साथ लगातार काम की प्रगति की समीक्षा की गई। उन्होनें कहा कि आधिकारियों ने फील्ड के काम के निरीक्षण को यकीनी बनाया, जिससे 100 दिनों की समय सीमा से पहले ही लक्ष्य को प्राप्त करने में सहायता मिली।अतिरिक्त डिप्टी कमिश्नर (विकास) ने कहा कि बच्चों को साफ़ पानी उपलब्ध करवाना सरकार की सबसे बड़ी प्राथमिकता है, क्योंकि बच्चे पानी के साथ होने वाली बीमारियों का सबसे अधिक शिकार हैं। उन्होनें कहा कि अब 184 आंगनवाड़ी केन्द्रों में काम पूरा होने से जालंधर के सभी 1654 आंगनवाड़ी केंद्र को पानी के क्नैक्शनों के साथ जोड़ दिया गया हैं। सारंगल ने इस काम को निर्विघ्न ढंग से पूरा करने पर आधिकारियों की टीम की ठोस प्रयत्नों के लिए प्रशंसा की, जिससे बच्चों और अन्य को पीने के लिए सुरक्षित और साफ़ पानी उपलब्ध होगा। उन्होनें आगे कहा कि इससे पीने वाले पानी का सुरक्षित प्रबंधन और भंडारन, साबुन से हाथ धोना, निजी और कम्युनिटी सफ़ाई भी विश्वसनीय बनेगी।

Translate »
क्रान्ति न्यूज लाइव - भ्रष्टाचार के खिलाफ क्रांति की मशाल