हिन्दू यदि भारत मे नही रहेगा तो कहाँ रहेगा-पूर्व वित्त मंत्री जयंत मलैया

भाजपा ने मप्र में नागरिकता संशोधन कानून जल्द लागू करने की मांग को लेकर रैली निकाली, कलेक्टोरेट का घेराव कर ज्ञापन सौंपा भाजपा नेताओं ने मप्र की कांग्रेस सरकार पर शरणार्थी हिंदू, सिख, बौद्ध, जैन,पारसी एवं ईसाई विरोधी होकर तुष्टिकरण का आरोप लगाया

kranti news m.p , संवाददाता सुनील शाह ठाकुर :- दमोह/मप्र:- मप्र में मुख्यमंत्री कमलनाथ के नेतृत्व में कांग्रेस सरकार ने केंद्र सरकार द्वारा पारित नागरिकता संशोधन कानून को प्रदेश में लागू करने से इंकार कर भारत के संघीय ढांचे और सामाजिक सद्भाव को चोट पहुंचाई है। उन्होंने कहा कि यदि हिन्दु भारत मे नही रहेगा तो कहाँ रहेगा उन्होंने कहाँ कि कांग्रेस पार्टी वोट बैंक और तुष्टिकरण की राजनीति करने वाली है, कांग्रेस की सरकार के मुखिया ने प्रदेश में भ्रम का वातावरण बनाते हुए अराजकता को बढ़ावा देने का कुत्सित प्रयास किया है। भारतीय जनता पार्टी राज्यपाल महोदय से मांग करती है कि वे मुख्यमंत्री को प्रदेश में नागरिकता संशोधन कानून को अतिशीघ्र लागू करने के निर्देश दें। यह बात नागरिकता संशोधन कानून को मप्र में जल्द लागू कराने की मांग को लेकर मंगलवार कलेक्टोरेट का घेराव करते हुए भाजपा के वरिष्ठ नेता व पूर्व मंत्री जयंत मलैया ने कही। भाजपा दमोह नगर मंडल के अध्यक्ष पं.मनीष तिवारी व जिला सह मीडिया प्रभारी मोन्टी रैकवार ने जानकारी देते हुए बताया कि इससे पहले भाजपा जिला कार्यालय से हजारों भाजपा कार्यकर्ता, पदाधिकारी, जनप्रतिनिधि व आमजन ने नागरिकता संशोधन कानून के समर्थन में प्रमुख मार्गों से होकर कलेक्टोरेट तक रैली निकाली। तत्पश्चात कलेक्टोरेट का घेराव कर भारतीय संविधान के सम्मान में नारेबाजी की। इस दौरान भाजपा जिलाध्यक्ष देवनारायण श्रीवास्तव ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि शीघ्र ही मप्र में नागरिकता संशोधन कानून अतिशीघ्र लागू हो। जिससे मध्यप्रदेश के विभिन्न भागों में शरणार्थी बनकर रह रहे हिंदू, सिख, ईसाई, जैन, बौद्ध और पारसी समाज के पीड़ितों को सम्मान और सुविधा का जीवन प्रदान किया जा सके। भाजपा के युवा नेता सिद्धार्थ मलैया ने कहा कि बड़े दुःख की बात है कि मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने नागरिकता संशोधन कानून को मध्यप्रदेश में लागू नहीं करने की बात कही है। मुख्यमंत्री का यह कथन भारत की संप्रभुता, संघीय व्यवस्था और संवैधानिक मर्यादाओं का खुला उल्लंघन है। मुख्यमंत्री जैसे जिम्मेदार पद पर बैठे हुए व्यक्ति का यह वक्तव्य अत्यंत गंभीरता से लिए जाने की आवश्यकता है। वे कांग्रेस के स्टेंड पर चलने की बात कहते समय शायद यह भूल गए कि उनकी भूमिका कांग्रेस के कार्यकर्ता से अधिक राज्य के मुखिया की है। पूर्व विधायक लखन पटेल ने कहा कि नागरिकता देने और नहीं देने का काम भारत सरकार का होता है, राज्यों का नहीं। मुख्यमंत्री सहित पूरी सरकार को यह निर्देश दिया जाए कि वे ऐसा कोई कार्य न करें, जिससे भारत के संघीय ढांचे और सामाजिक सद्भाव को चोट पहुंचे।
भाजपा के जिला महामंत्री रमन खत्री ने कहा भारत की संसद द्वारा नागरिकता संशोधन बिल-2019 को पारित किए जाने के बाद राष्ट्रपति महोदय ने भी उसे मंजूरी दे दी है। अतः वह कानूनी स्वरूप लेकर संपूर्ण भारत में रह रहे उन शरणार्थियों की भारतीय नागरिकता का मार्ग प्रशस्त करता है, जिन्हें पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान में धर्म के आधार पर उत्पीड़ित किया गया। पूर्व भाजपा जिला अध्यक्ष पं.नरेन्द्र व्यास ने कहा कि इनकी जायदाद पर कब्जे कर लिए गए, घर के प्रमुख लोगों को मौत के घाट उतार दिया गया और बेटियों का अपहरण कर बड़े पैमाने पर बलात्कार और धर्म परिवर्तन कराए गए। इन हिंदू, सिख, ईसाई, जैन, पारसी और बौद्ध समुदाय के लोगों ने अपनी जान और सम्मान बचाने के लिए भारत में शरण ले रखी थी। पिछले कई वर्षों से इन्हें भारतीय नागरिकता देने की मांग हो रही थी, लेकिन बीते वर्षों में कांग्रेस की सरकारों ने वोट बैंक टूटने के भय से इसके लिए कोई कानून नहीं बनाया। प्रसन्नता की बात है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह के नेतृत्व में यह ऐतिहासिक निर्णय हुआ है, जिससे उन लाखों परिवारों को सम्मान और सुविधा का जीवन मिल सकेगा, जो अभी तक भारत में ही रहकर नागरिक अधिकारों से वंचित थे।

कलेक्टोरेट के घेराव के दौरान दमोह सांसद प्रतिनिधि डाक्टर आलोक गोस्वामी ने कहा देश के गृहमंत्री अमित शाह ने संसद के दोनों सदनों में स्पष्ट किया है कि कांग्रेस ने देश का विभाजन धार्मिक आधार पर किया है। इस्लामी संविधान को मानने वाले देश पाकिस्तान, बांग्लादेश, अफगानिस्तान में अल्पसंख्यक हिंदू, सिख, ईसाई, जैन, बौद्ध, पारसी समुदाय को प्रताड़ित किया जा रहा है। उनका जबरन धर्मांतरण होने से जनसंख्या में कमी आ रही है। ऐसे में वे अपने मूल वतन भारत के अलावा कहां शरण लेंगे। पूर्व जिलाध्यक्ष पंडित बिहारी लाल गौतम ने कहाँ कि देश नेहरू व जिन्ना के स्वार्थ का खामियाजा भुगत रहा है। मोदी सरकार कानून में संशोधन कर देश को सही दिशा देने का काम कर रही है।
कलेक्टर कार्यालय के घेराव आंदोलन को जिला पंचायत अध्यक्ष शिवचरण पटेल,दमोह नगरपालिका अध्यक्ष मालती असाटी,भाजयुमो आयाम प्रकोष्ठ के प्रदेश सह संयोजक मनीष सोनी,महिला मोर्चा की प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य कविता राय,किसान मोर्चा के जिला अध्यक्ष गोपाल पटेल,पिछड़ा मोर्चा के जिला अध्यक्ष कपिल सोनी,भाजयुमो जिला अध्यक्ष प्रमोद विश्वकर्मा,महिला मोर्चा अध्यक्ष प्रतिभा तिवारी, सहित वरिष्ठ नेतागणों ने भी संबोधित किया।
अांदोलन का सफल संचालन मनीष तिवारी,मोन्टी रैकवार,विक्की ठाकुर,भरत यादव,रीतेश सोनी,आलोक मुखरैया,विशाल शिबहरे ने किया एवं आभार भाजपा जिला महामंत्री रमन खत्री के द्वारा व्यक्त किया गया।
इस दौरान प्रमुख रूप पूर्व मंत्री जयंत मलैया,भाजपा जिला अध्यक्ष देवनारायण श्रीवास्तव,सांसद प्रतिनिधि डाक्टर आलोक गोस्वामी,पूर्व विधायक लखन पटेल,सोनाबाई अहिरवाल पूर्व भाजपा जिला अध्यक्ष पं.बिहारी लाल गौतम,हेमंत छाबड़ा,राजेन्द्र सिंघई,डाॅ.विजय सिंह राजपूत,नरेन्द्र ब्यास,भाजपा जिला महामंत्री रमन खत्री,रूपेश सेन,बहादुर पटेल,अखलेश हजारी,भाजयुमो आयाम प्रकोष्ठ के प्रदेश सह संयोजक मनीष सोनी,पूर्व प्रदेश संयोजक संजय सेन,सिद्धार्थ मलैया,पूर्व महामंत्री सतीश तिवारी,अनुपम सोनी,मनीष तिवारी,मोन्टी रैकवार,पवन तिवारी,भाजपा किसान मोर्चा अध्यक्ष गोपाल पटेल,कपिल सोनी,प्रमोद विश्वकर्मा,दमोह नपा अध्यक्ष मालती असाटी,पुष्पा चिले,कविता राय बबली विश्वकर्मा,प्रतिभा तिवारी,सुधा झारिया,वर्षा रैकवार,कृष्णा सेंगर, श्यामा उरेती,कुसम खरे,विनीता जड़िया,छाया साहू,रितू पांडे,पूजा राज,भाजपा मंडल अध्यक्ष मनीष तिवारी,अजय लोधी,देवेन्द्र ठाकुर,अभिलाष हजारी,संतोष रोहित,कपिल शुक्ला,राजवीर सिंह चौहान, मनीष पलया,महेश पटेल,ललित पटेल,भारत सिंह,जुगल शर्मा,पार्षद नंदू ठाकुर,पप्पू मलाई,विजय जैन,विवेक अग्रवाल,प्रशांत तिवारी,कृष्णा राज,मंटू गुप्ता,चुन्नू यादव,राजाराम सोनी,नंदू रैकवार,नीलेश सिंघई,संजय गौतम,रीतेश सोनी,विशाल शिबहरे,मोनू चौरसिया,द्वारका पटेल,नरेश पटेल,मोहन पटेल,इन्द्रकुमार चौराहा,जयपाल यादव, राजेश यादव दीपक सोनी सतीश बोहरे,कोमल यादव सुनील यादव आलोक मुखरैया,हरि रजक,रिंकू गोस्वामी,सौरभ विश्वकर्मा,अरविंद रजक,मनीष असाटी,महेन्द्र राठौर,देवेन्द्र ठाकुर,श्याम दुबे,सहित दमोह जिले मे निवासरत सभी प्रदेश पदाधिकारी, प्रदेश कार्यसमिति सदस्य, पूर्व विधायक,जिला पदाधिकारि, नगर पालिका/परिषद के अध्यक्ष, सभी पार्षद, जिला पंचायत अध्यक्ष, उपाध्यक्ष,एवं सदस्य, जनपद अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, एवं सदस्य, सभी मंडलो के अध्यक्ष एवं पदाधिकारी, सभी मोर्चो के जिलाध्यक्ष एवं पदाधिकारी, सभी मोर्चों के मंडल अध्यक्ष, एवं पदाधिकारी,सभी प्रकोष्ठों के संयोजको ने किसान आक्रोश रैली मे शामिल होकर कमलनाथ सरकार के विरोध में प्रदर्शन किया।

Translate »
क्रान्ति न्यूज - भ्रष्टाचार के खिलाफ क्रांति की मशाल