नैनीताल : विख्यात शेरवुड कॉलेज विवाद में आया, नया दिलचस्प मोड़

ऐजाज हुसैन ब्यूरो चीफ उत्तराखंड

नैनीताल। यहां के प्रतिष्टित शेरवुड कॉलेज का विवाद दिनोंदिन जोर पकड़ता जा रहा है। उच्च न्यायालय में डायसिस ऑफ आगरा व नए अंतरिम प्रिंसिपल और वर्तमान प्रिंसिपल अमनदीप संधू के बीच वर्चस्व की लड़ाई चल ही रही थी, इसी बीच डायसिस ऑफ लखनऊ ने इंटरवेंशन याचिका दायर कर मामले को और अधिक गर्मा दिया है।
बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन, देश के पहले फील्ड मार्शल सैम माणिक शॉ, प्रथम परमवीर चक्र विजेता शहीद मेजर सोमनाथ शर्मा, कबीर बेदी आदि कई नामी गिरामी हस्तियों को शिक्षा दे चुका नैनीताल का प्रसिद्ध शेरवुड कॉलेज इन दिनों अपने विवाद के कारण चर्चाओं में है। बताया गया है कि अब तक इस स्कूल पर डायसिस ऑफ आगरा का कब्जा था और उन्होंने 2004 से 21 अक्टूबर 2020 तक अमनदीप संधू को प्रिंसिपल के रूप में रखा था। इसके बाद अचानक 21 अक्टूबर को डायसिस ऑफ आगरा ने अमनदीप संधू को हटाकर पीटर धीरज इमेनुएल को शेरवुड का अंतरिम प्रिंसिपल बना दिया। लेकिन जब पीटर शेरवुड कॉलेज में चार्ज लेने पहुंचे तो उन्हें कॉलेज के भीतर प्रवेश ही नहीं करने दिया गया।
अंतरिम प्रिंसिपल पीटर ने स्कूल में प्रवेश करने के लिए सुरक्षा मांगते हुए उच्च न्यायालय की शरण ली। न्यायालय ने सरकार से कहा और उन्हें सुरक्षा भी मिल गई, लेकिन वो डायसिस के वेस्ट यूपी और उत्तराखंड चेयरमैन, सलाहकार व अधिवक्ता के साथ भी कॉलेज में प्रवेश नहीं कर सके। डायसिस ऑफ आगरा ने उच्च न्यायालय में याचिका दायर कर शेरवुड कॉलेज के प्रिंसिपल अमनदीप संधू को हटाकर उनके द्वारा नवनियुक्त अंतरिम प्रिंसिपल पीटर धीरज इमेनुएल को प्रिंसिपल काबिज कराने की प्रार्थना की है। इसी बीच पहले से संपत्ति पर दावा कर रही डायसिस ऑफ लखनऊ द्वारा भी इंटरवेंशन याचिका डालकर उन्हें भी सुनने की अपील कर दी गई है।

One thought on “नैनीताल : विख्यात शेरवुड कॉलेज विवाद में आया, नया दिलचस्प मोड़

Comments are closed.

Translate »
क्रान्ति न्यूज लाइव - भ्रष्टाचार के खिलाफ क्रांति की मशाल