विजय दिवस सेना के अदम्य साहस व शौर्य का प्रतीक : वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार मीणा

ऐजाज हुसैन ब्यूरो चीफ उत्तराखंड

हल्द्वानी। “शहीदों की चिताओं पर लगेंगे हर बरस मेले, वतन पर मिटने वालों का यही बाकी निशा होगा” जनपद में विजय दिवस कोविड-19 के चलते सादगी से मनाया गया। शहीद स्मारक पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार मीणा, अपर जिलाधिकारी एसएस जंगपांगी, जिला सैनिक कल्याण अधिकारी कैप्टन डीएस धपोला, मेजर जनरल (से.नि.) इन्द्रजीत बोरा व सेवानिवृत्त सैनिक अधिकारियों ने 1971 में भारत-पाक युद्ध में जिले के शहीद हुए सैनिकों को पुष्प एवं पुष्पचक्र चढ़ाकर श्रद्धांजलि अर्पित की।
वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार मीणा ने कहा कि विजय दिवस सेना के अदम्य साहस व शौर्य का प्रतीक है। हमारे सैनिकों ने शहादत दी थी जिनके पराक्रम के बल पर हमने विजय प्राप्त की थी। हमें व सभी देशवासियों को हमारी सेना व सैनिकों पर गर्व है। इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी ने कहा कि सैनिक हमारी शान हैं। उत्तराखण्ड सैनिकों की वीरभूमि है, इनकी शहादत हमेशा स्मरणीय रहेगी। उन्होंने कहा कि उनके स्तर से सैनिकों की सभी समस्याओं का त्वरित गति से निदान किया जाता है। हमारा दायित्व है कि सैनिकों का सम्मान करते हुए उन्हें उनके हक के साथ ही उनकी समस्याओं को निराकरण प्राथमिकता से करें।
कार्यक्रम में कर्नल डीएस बिष्ट, कर्नल एस0 वाशिंगटन, पुलिस अधीक्षक नगर अमित श्रीवास्तव, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती सुमित्रा प्रसाद, मेजर (से.नि.) कुंवर सिंह, मेजर बीएस रौतेला, कैप्टन डीएस खर्कवाल, एसएस रौतेला, तारा चन्द्र जोशी, दीप चन्द्र पाण्डे, नरेन्द्र बोहरा, जगत बोरा, कैलाश चन्द्र, ललित सिंह, शंकर सिंह, हरीश कुमार सहित सेवानिवृत्त अधिकारियों एवं सैनिकों ने शहीदों सैनिकों को पुष्प अर्पित कर श्रद्वांजली दी।

Translate »
क्रान्ति न्यूज लाइव - भ्रष्टाचार के खिलाफ क्रांति की मशाल