कुलपहाड़ तहसील के अंतर्गत ग्राम जैतपुर में दबंग भूमाफिया कर रहे चारागाह की जमीन पर कब्जा

BEAURO REPORT – DEVENDRA RATHOURE

सूत्रों के अनुसार क्षेत्रीय लेखपाल की शह पर हो रहा है चारागाह की जमीन पर कब्जा

मिली जानकारी के अनुसार क्षेत्रीय लेखपाल कल शाम को भू माफियाओं के घर बैठा रहा

महोबा – आपको बता दें कि मामला ग्राम जैतपुर थाना तहसील कुलपहाड़ का है जहां दबंग शशि भूषण पुत्र रामपाल के द्वारा कुछ वर्षों पूर्व चारागाह की जमीन गाटा नंबर 2014 पर अवैध कब्जा करके अपना निजी विद्यालय बना लिया था जिस पर माननीय तहसीलदार के द्वारा बेदखली का आदेश भी पारित हो चुका है परंतु बेदखली के आदेशों के बावजूद भी मौके से कब्जे को नहीं हटाया गया आज दिनांक 10- 12 -2020 को यह दबंग चारागाह की जमीन में निर्माण करना चाहता है समय रहते निर्माण कार्य को नहीं रुकवाया गया तो चारागाह की जमीन पर कब्जा हो जाए वह अपने कब्जे में ले लेंगे जिससे आम जनमानस को दिक्कत पैदा हो जाएगी एवं गायों के चरने की जमीन जो गोचर के नाम से जानी जाती है उस पर भी कब्जा हो जाएगा
यदि चारागाह की जमीनों को सुरक्षित ना किया गया और समय रहते इन भू माफियाओं को ना रोका गया तो यह चारागाह की जमीनों को चट कर जाएंगे और माननीय योगी आदित्यनाथ जो गायों के प्रति सजग हैं और गोचर की जमीनों को सुरक्षित कराना चाहते हैं उनके मंसूबों पर भी पानी फिर जाएगा
माननीय उच्चतम न्यायालय के आदेश अनुसार हिंचलाल बनाम कमलादेवी में आदेश पारित हुआ था कि चारागाह की जमीनों में किसी प्रकार का कोई अवैध कब्जा नहीं हो सकता है यदि ऐसी जमीनों में किसी प्रकार का कोई कब्जा है तो तत्काल प्रभाव से हटा दिया जाए लेकिन माननीय उच्चतम न्यायालय के आदेशों को यहां की लेखपाल धता बताते हुए हो रहे चारागाह की जमीनों कब्जों को रोकने में नाकाम साबित हो रहे हैं लेखपाल की ऐसी कार्यशैली आम जनमानस में चर्चा का विषय बनी हुई है
अब देखना यह है कि आखिर चारागाह की जमीनों में हो रहे कब्जा को कब तक नहीं रुकवाया जा सकता

Translate »
क्रान्ति न्यूज लाइव - भ्रष्टाचार के खिलाफ क्रांति की मशाल