जिला अदालतों को खुलवाने की मांग को लेकर वकीलों ने बार काउंसिल के चेयरमैन के नाम सौंपा मांगपत्र

जालंधर,(विशाल) –जिला अदालतों को खुलवाने की मांग को लेकर शहर के वकीलों ने वीरवार को आवाज उठाई। उन्होंने बार काउंसिल ऑफ पंजाब एवं हरियाणा के चेयरमैन के नाम पर एसोसिएशन के प्रधान गुरमेल सिंह लिद्दड़ को एक मेमोरेंडम सैंपा। बार एसोसिएशन के पूर्व प्रधान आरके भल्ला ने कहा कि कोरोना महामारी के कारण पंजाब हरियाणा सहित पंजाब की सारी अदालतें बंद हैं। खास तौर पर पंजाब और हरियाणा की जिला अदालतें बिल्कुल बंद हैं। सिर्फ जमानत, स्टे का काम ही वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये हो रहा है।उन्होंने कहा कि मई के बाद से सरकार ने अनलॉक प्रक्रिया शुरू की थी। धीरे-धीरे सारे दफ्तर, रेस्टोरेंट्स, जिम, पार्क सहित अन्य संस्थान खोलने की इजाजत दे दी गई। सारे आईएएस, पीसीएस, आईपीएस और गजटेड अफसर अपने-अपने विभागों में पब्लिक डीलिंग कर रहे हैं। सिर्फ अदालत ही बंद हैं। उन्होंने कहा कि बार ऐसोसिएशन की तरफ से वकीलों की चुनाव भी करवा दिए गए हैं। हर तरह के धरने प्रदर्शन हो रहे हैं। असेंबली के इलेक्शन सहित असेंबली और पार्लियामेंट के सेशन भी शुरू हो गए हैं लेकिन अदालतें नहीं खोल रहे हैं।एडवोकेट भल्ला ने बताया कि नौजवान वकील आर्थिक तंगी का शिकार हो रहे हैं। कई वकील तो दूसरे काम ढूंढने शुरू कर रहे हैं। उन्होंने मांग की है कि जल्द से जल्द अदालतों को खोला जाए और बार एसोसिएशन का इजलास बुलाया जाए ताकि इस संबंध में अगली कार्रवाई की जाए। जनता के साथ वकीलों को भी न्याय मिल सके। इस मौके पर एडवोकेट प्रितपाल सिंह दलबीर राजे, निखिल शर्मा, केशव गांधी, राहुल रामपाल शर्मा राजवीर सिंह, नरेंद्र पाल सिंह, विकास छाबड़ा, केपीएस गिल, विजय कुमार, सिद्धार्थ, एसएस शेरगिल, रजनीश सहित अन्य वकील मौजूद थे

Translate »
क्रान्ति न्यूज लाइव - भ्रष्टाचार के खिलाफ क्रांति की मशाल