उत्तराखंड : कैबिनेट का फैसला, 15 दिसंबर से खुलेंगे उच्च शिक्षा संस्थान

ऐजाज हुसैन ब्यूरो चीफ उत्तराखंड

देहरादून। राज्य के उच्च शिक्षण संस्थान 15 दिसंबर से खुल जाएंगे। इन शिक्षण संस्थाओं में कोविड 19 गाइडलाइन का पूरी तरह पालन कराया जाएगा।
उत्तराखंड कैबिनेट की बुधवार को हुई बैठक में यह फैसला लिया गया है। कैबिनेट बैठक में आए 29 में से 27 मामलों पर मुहर लगी।
साथ ही बैठक में कोविड-19 वैक्सीन के रखरखाव को लेकर भी विचार-विमर्श किया गया। उत्तराखंड में 20 प्रतिशत लोगों को पहले चरण में वैक्सीन लगाई जाएगी। फ्रंटलाइन वारियर्स के साथ ही 55 वर्ष से अधिक उम्र के व्यक्तियों को वैक्सीनेशन में प्राथमिकता दी जाएगी। उत्तराखंड में 15 दिसंबर से उच्च शिक्षण संस्थान, सभी निजी और प्रोफेशनल कोर्स से जुड़े कॉलेज खोल दिए जाएंगे। वेट सुनवाई के लंबित प्रकरणों की तिथि को अगले वर्ष 31 जनवरी तक बढ़ाये जाने का फैसला लिया गया है। शहरी क्षेत्र के बीपीएल और गरीब परिवारों या 100 वर्ग मीटर भूमि पर रहने वाले लोगों को 100 रुपये में पानी का कनेक्शन देने का भी फैसला लिया गया।
ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल लाइन में काम करने वाले ठेकेदारों को लेकर भंडारण व क्रेशर को लेकर नियमों में शिथिलीकरण का भी फैसला लिया गया। स्वामित्व योजना में 21 दिनों में नोटिस के निपटारे को अब 10 दिन किया गया। कैबिनेट बैठक में यह तय किया कि मेडिकल कालेजों में पीजी करने वाले सरकारी डॉक्टर्स को या तो स्टाईफंड मिलेगा या आधा वेतन मिलेगा। साथ ही पड़ोसी देशों के साथ निविदा की शर्तें भारत सरकार के नियमों के अनुसार लागू करने का फैसला लिया गया। राज्य में प्रिक्यूमेंट रूल को लेकर भारत सरकार के संशोधित नियम ही उत्तराखंड राज्य में मान्य होंगे।

Translate »
क्रान्ति न्यूज लाइव - भ्रष्टाचार के खिलाफ क्रांति की मशाल