उत्तराखण्ड में अब वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिए सुनी जायेगी शिकायत, शीघ्र होगा समाधान

ऐजाज हुसैन ब्यूरो चीफ उत्तराखंड

देहरादून। पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार अपना पद संभालने के बाद लगातार एक्शन में दिखाई दे रहे हैं। इसी क्रम में अब उन्होंने शिकायतों को वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिए सुनकर उनका समाधान करने के निर्देश दिये हैं।
बताते चलें कि ऐसे महत्वपूर्ण प्रकरण जहां शिकायतकर्ता जनपद पुलिस द्वारा की गयी जांच/विवेचना से यदि संतुष्ट नहीं होता है, तो ऐसी शिकायत की जांच/विवेचना की समीक्षा पुलिस मुख्यालय द्वारा अब वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से की जाएगी। पूर्व में ऐसी शिकायत की जांच/विवेचना की समीक्षा हेतु शिकायतकर्ता एवं जांच अधिकारी को पुलिस मुख्यालय बुलाया जाता था, जिसमें कभी कभी किसी शिकायतकर्ता को काफी दूर से आना पड़ता था।
वहीं अब शिकायतकर्ता एवं जांच अधिकारी को पुलिस मुख्यालय आने की आवश्यकता नहीं होगी। नये साल में 01 जनवरी से प्रत्येक शुक्रवार को दोपहर 12.00 बजे से 13.00 बजे तक पुलिस महानिदेशक, उत्तराखण्ड या पुलिस महानिरीक्षक, अपराध एवं कानून व्यवस्था, उत्तराखण्ड द्वारा संबंधित जनपद से वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से ऐसी शिकायतों की जांच/विवेचना की समीक्षा की जाएगी, जिसमें शिकायतकर्ता, जांच अधिकारी और विवेचना अधिकारी द्वारा अपना-अपना पक्ष रखा जाएगा। वीडियो कान्फ्रेसिंग में पुलिस मुख्यालय स्तर पर पुलिस महानिदेशक, उत्तराखण्ड एवं पुलिस महानिरीक्षक, अपराध एवं कानून व्यवस्था, उत्तराखण्ड, जनपद स्तर पर जनपद प्रभारी, पुलिस उपाधीक्षक, थाना प्रभारी, जांच अधिकारी, विवेचना अधिकारी और शिकायतकर्ता मौजूद रहेंगे।
पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने बताया कि यह व्यवस्था अगले माह 01 जनवरी से लागू होगी। वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से सुनी जाने वाली शिकायतों का निर्धारण स्वयं उनके एवं पुलिस महानिरीक्षक, अपराध एवं कानून व्यवस्था और पुलिस अधीक्षक, अपराध एवं कानून व्यवस्था, उत्तराखण्ड द्वारा किया जाएगा। इस व्यवस्था से शिकायतकर्ता, जांच अधिकारी एवं विवेचना अधिकारी का भी समय बचेगा और संबंधित प्रकरण या विवेचना की समीक्षा समय से हो पाएगी। जिससे पीड़ित को शीघ्र न्याय दिलाने में सहायता होगी।

Translate »
क्रान्ति न्यूज लाइव - भ्रष्टाचार के खिलाफ क्रांति की मशाल