बैठक के बजाए ग्राम सचिवालय में हो रहा पशुपालन

REPORT – BEAURO CHIEF [ PRADEEP MISHRA ]

महराजगंज तराई (बलरामपुर)। लाखों की लागत से बनाए गए ग्राम सचिवालय में बैठक के बजाए इनका इस्तेमाल पशुपालन के लिए किया जा रहा है।

तुलसीपुर ब्लॉक के बदलपुर ग्राम पंचायत के सचिवालय में जहां जानवरों को बांधा जा रहा है वहीं मैनहवा ग्राम पंचायत का सचिवालय भवन देखरेख के अभाव में जर्जर हो रहा है। ग्राम प्रधानों की घोर लापरवाही के चलते सचिवालय भवनों का प्रयोग सरकारी कार्यों में नहीं हो रहा है।
तुलसीपुर विकास खंड के ग्राम पंचायत बदलपुर का भवन लगभग पांच वर्ष पूर्व बनकर तैयार हुआ था। पंचायत भवन के निर्माण में करीब 23 लाख रुपये खर्च किये गए।
भवन निर्माण हो जाने के बावजूद उसमें बैठक आयोजित नहीं की जाती हैं। देखरेख के अभाव में पंचायत भवन पूरी तरह जर्जर हो गया है। भवन को ग्रामीण पशुशाला के रूप में प्रयोग कर रहे हैं।
पंचायत भवन में भूसा रखा हुआ है। बरामदे में पशुओं को बांधा जाता है। इसी तरह ग्राम मैनहवा में बना पंचायत भवन देख-रेख के अभाव में पूरी तरह जर्जर हो गया है। भवन की खिड़की-दरवाजे गायब हो चुके हैं।
भवन में भूसा रखने और जानवरों को बांधने के काम में लिया जा रहा है। ग्रामवासी सूरजलाल, महावीर, अब्दुल अजीज, विजयपाल, कबीर व प्रभू दयाल आदि ने बताया कि पंचायत भवन में आज तक कोई बैठक नहीं हुई।
पंचायत भवन के चारो तरफ झाड़ियां उग आई हैं। खिड़की-दरवाजे चोर उठा ले गए हैं। पंचायत भवन देखरेख के अभाव में काफी जर्जर होता जा रहा है।
इस संबंध में खंड विकास अधिकारी राजेश कुमार ने बताया कि मामला संज्ञान में आया है। मामले की जांच कराकर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

Translate »
क्रान्ति न्यूज लाइव - भ्रष्टाचार के खिलाफ क्रांति की मशाल