सरकार द्वारा निर्धारित रेट पर हो निजी प्रयोगशालाओं में कोरोना की जांच, उल्लंघन करने वालों पर होगी सख्त कार्यवाही : जिलाधिकारी सविन बंसल

ऐजाज हुसैन ब्यूरो चीफ उत्तराखंड

हल्द्वानी। जिलाधिकारी सविन बंसल ने बताया कि कोविड-19 के संक्रमण के प्रभावी रोकथाम एवं टेस्ट की संख्या बढ़ाये जाने के उद्देश्य से अब निजी प्रयोगशालाओं में कोरोना वायरस के रैपिड एंटीजन टैस्टिंग हेतु अधिकतम दर रू. 679 (रूपये छः सौ उन्नासी मात्र) निर्धारित कर दी गई है।
जिलाधिकारी सविन बंसल ने बताया कि कोविड-19 के संक्रमण के प्रभावी रोकथाम एवं टेस्ट की संख्या बढ़ाये जाने के उद्देश्य से महामारी अधिनियम 1897 एवं उत्तराखंड महामारी कोविड-19 विनियमावली 2020 के सुसंगत प्राविधानों के अन्तर्गत शासन ने 29 सितम्बर 2020 द्वारा रैपिड एंटीजन टैस्टिंग हेतु निर्धारित अधिकतम दर रू. 719 (रूपये सात सौ उन्नीस मात्र) को अतिक्रमित करते हुए शासन द्वारा सम्यक विचारोपरान्त एनएबीएच, एनएबीएल मान्यता प्राप्त निजी प्रयोगशालाओं में कोरोना वायरस के संक्रमण की रैपिड एंटीजन टैस्टिंग हेतु अधिकतम दर रू. 679 (रूपये छः सौ उन्नासी मात्र) निर्धारित कर दी गई है।
जिलाधिकारी ने निजी प्रयोगशालाओं के प्रबन्धकों को सभी परीक्षण के पश्चात् आईसीएमआर के पोर्टल पर रिर्पोट दर्ज कराने के साथ ही मुख्य चिकित्साधिकारी एवं स्टेट सर्विलान्स अधिकारी को भी रिर्पोट उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि निर्देशों के उल्लघंन पर महामारी अधिनियम 1897 एवं उत्तराखण्ड राज्य महामारी कोविड-19 विनियमावली 2020 के सुसंगत प्राविधानों का उल्लघंन माना जाएगा। उन्होंने कहा कि निजी प्रयोगशालाओं द्वारा कोविड-19 के संदर्भ में भारत सरकार, राज्य सरकार, आईसीएमआर द्वारा समय-समय निर्गत दिशा-निर्देशों तथा आदेशों का पूर्णतः अनुपालन सुनिश्चित किया जाये।

Translate »
क्रान्ति न्यूज लाइव - भ्रष्टाचार के खिलाफ क्रांति की मशाल