राजस्व वसूली अभियान के तहत कड़ी कार्यवाही, तहसीलदार ने की रेंजर की गाड़ी जब्त

ऐजाज हुसैन ब्यूरो चीफ उत्तराखंड

हल्द्वानी। तहसीलदार लालकुआं श्रीमती नितेश डागर ने राजस्व वसूली अभियान के तहत बेहद सख्ती दिखाते हुए वन क्षेत्राधिकारी गौला रेंज तराई पूर्वी वन प्रभाग के वाहन को ऋण अदायगी समय पर न करने के आरोप में जब्त कर तहसील परिसर हल्द्वानी में खड़ा करवा दिया है। तहसीलदार की इस कड़ी कार्यवाही के बाद समूचे क्षेत्र में हड़कंप मचा हुआ है।
उल्लेखनीय है कि वर्तमान समय में राजस्व वसूली अभियान लागू किया गया है जिसको लेकर तहसीलदार श्रीमती नितेश डागर बेहद प्रभावी एवं कड़ी कार्रवाई कर रही हैं, इसके तहत उन्होंने राजपत्रित अधिकारी के वाहन को समय पर ऋण अदा नहीं करने के आरोप में कुर्क कर दिया है। यह कार्यवाई कर तहसीलदार ने यह स्पष्ट संदेश दिया है कि ऋण अदायगी यदि समय पर नहीं की गई और राजस्व हानि पहुंचाने का प्रयास किया गया तो बड़ी से बड़ी कार्यवाही भी की जा सकती है।
इस दौरान तहसीलदार नितेश डागर के साथ राजस्व निरीक्षक भीम सिंह कुटियाल, उप राजस्व निरीक्षक मनोज रावत, संग्रह अमीन विक्रम गौतम, उर्वा दत्त कांडपाल, गिरीश गुणवंत आदि मौजूद थे।
वहीं तराई पूर्वी वन प्रभाग हल्द्वानी अंतर्गत गौला रेंज के वन क्षेत्राधिकारी आर पी जोशी ने कहा कि बिजली विभाग द्वारा ₹11360 का एक बिल भेजा गया था, जिसके लिए वन विभाग ने बिजली विभाग को बिल कब का है और कहां का है के बाबत पत्र भी लिखा था, लेकिन कोई जवाब नहीं मिला। उन्होंने कहा आज तहसीलदार और संग्रह अमीन तराई पूर्वी हल्द्वानी के कार्यालय में आए और वाहन जप्त करने की कार्रवाई शुरू कर दी। उन्होंने बताया कि इस दौरान तहसीलदार को उन्होंने मौके पर ही नगद बिल के भुगतान करने को भी कहा, लेकिन उन्होंने साफ इनकार कर दिया। वन क्षेत्राधिकारी आर पी जोशी का कहना है कि तहसीलदार लालकुआं द्वारा हमारी नहीं सुनी गई और एकतरफा कार्रवाई की गई है। तहसीलदार की इस एकतरफा कार्यवाही से वन विभाग अधिकारी बेहद आहत हैं।

Translate »
क्रान्ति न्यूज - भ्रष्टाचार के खिलाफ क्रांति की मशाल