परदे के पीछे से मुस्कुराना

krishan tawakya singh :- परदे के पीछे से मुस्कुराना
शब्दों से दिल चुराना
ये कहाँ से आपने सीखा है
बातों बातों में ही किसी को अपना बनाना |
बिना बोले ही बोल जाना
इशारों में इश्क जताना
छुपकर ही मजा लेते है
जी में बार बार आता है घुंघट उठा दूँ
देखूँ उनके आँखों का शरमाना
क्या लिखा है उनके चेहरे पर
मुश्किल है पढ़ पाना
उन्होंने तो ठान रखा है
परदे के पीछे से ललचाना |

Translate »
क्रान्ति न्यूज - भ्रष्टाचार के खिलाफ क्रांति की मशाल