पचपेड़वा को तहसील और गैसड़ी को मिलेगा नगर पंचायत का दर्जा

beauro report – pradeep mishra ;-

बलरामपुर। भारत-नेपाल सीमा से सटे पचपेड़वा को तहसील और गैसड़ी बाजार को नगर पंचायत का दर्जा दिलाने की कवायद शुरू कर दी गई है। गैसड़ी विधायक शैलेश कुमार सिंह शैलू के अनुरोध पर शासन ने डीएम कृष्णा करुणेश से इस संबंध में प्रस्ताव मांगा है।

डीएम ने शासन को तहसील व नगर पंचायत का गठन कराने के लिए जवाब भेज दिया है। तहसील व नगर पंचायत का दर्जा मिलने से पचपेड़वा व गैसड़ी बाजार से जुडे़ चार लाख लोगों को अब अपने कार्यों के लिए दूर-दराज का चक्कर नहीं काटना पड़ेगा।
गौरतलब हो कि पचपेड़वा नगर व गैसड़ी बाजार भारत-नेपाल की सीमा से सटे क्षेत्र में हैं। गैसड़ी व पचपेड़वा ब्लॉकों के करीब चार लाख लोगों को अपना कार्य कराने के लिए 70 किलोमीटर से अधिक दूरी का तहसील मुख्यालय तुलसीपुर का चक्कर काटना पड़ रहा है।
बड़ा परिक्षेत्र होने के लिए विकास की संभावनाएं भी काफी कम रहती हैं। ग्रामीण जन कल्याण सेवा समिति के अध्यक्ष अजीज ने सबसे पहले पचपेड़वा को तहसील व गैसड़ी बाजार को नगर पंचायत का दर्जा दिलाने के लिए गैसड़ी विधायक को पत्र दिया। समिति अध्यक्ष के सुझाव पर गैसड़ी विधायक ने शासन में पैरवी की।
गैसड़ी विधायक के प्रस्ताव पर विचार करके शासन ने डीएम से रिपोर्ट मांगी। डीएम ने तुलसीपुर एसडीएम से इस संबंध में निर्धारित प्रारूप पर रिपोर्ट उपलब्ध कराने का निर्देश दिया। डीएम के निर्देश पर एसडीएम तुलसीपुर ने दोनों क्षेत्रों के भौगोलिक स्थिति का सत्यापन कराकर रिपोर्ट उपलब्ध कराई। डीएम ने एसडीएम की तरफ से उपलब्ध कराई गई रिपोर्ट शासन को भेज दी है।
रिपोर्ट में कहा गया है कि पचपेड़वा में तहसील मुख्यालय बनाया जा सकता है और इसी तरह से गैसड़ी बाजार को नगर पंचायत का दर्जा भी दिया जा सकता है। गैसड़ी विधायक के इस पहल पर क्षेत्र के लोगों में काफी खुशी है। दूर-दराज रहने वालों को अब तहसील स्तरीय कार्य के लिए 70 किलोमीटर का चक्कर काटने से निजात मिलेगी और गैसड़ी बाजार के लोगों को नगर पंचायत जुड़ी सुविधाओं का भर पूर लाभ मिल सकेगा।

Translate »
क्रान्ति न्यूज - भ्रष्टाचार के खिलाफ क्रांति की मशाल