जैतपुर (महोबा) —कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही पहुंचे महोबा , कृषि योजनाओं का जाना हाल

किसानों को खुशहाल बनाना ही कृषि विज्ञान केंद्र व सरकार का उद्देश्य, बोले प्रदेश के कृषि मंत्री– सूर्य प्रताप शाही

प्रदेश के कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने सोमवार को जैतपुर मे स्टेशन रोड पर स्थित कृषि विज्ञान केंद्र का निरीक्षण कर कृषि वैज्ञानिकों को किसानों के हित में कार्य करने के निर्देश दिए।

जिला मुख्यालय से करीब 35 किमी दूर जैतपुर कृषि विज्ञान केंद्र पर दोपहर करीब 1.30 बजे प्रदेश के कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही पहुंचे। कृषि फार्म के प्रक्षेत्र का भ्रमण कर उन्होंने जैविक खेती, सीड प्लानिंग, कम्पोस्टआदि का अवलोकन किए। इसके बाद कुलपति बांदा विश्वविद्यालय डॉ यू एस गौतम के साथ कृषि वैज्ञानिकों व संग बैठक कर कई बिंदुओं पर चर्चा करते हुए किसानों के हितों में चलाई जा रही योजनाओं की जानकारी ली। कृषि मंत्री ने कृषि वैज्ञानिकों को निर्देश दिए कि केंद्र परिसर को ऐसा बनाएं जिससे यहां आने वाले किसानों को अच्छी जानकारी मिले। कृषि वैज्ञानिक किसानों के हित में काम करें। किसानों को खुशहाल बनाना ही कृषि विज्ञान केंद्र व सरकार का उद्देश्य है। कृषि मंत्री ने मीडिया से रूबरू होते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश में भाजपा की सरकार आने के बाद जिले मे 46478 किसानों का 1 लाख प्रति किसान के हिसाब से 263 करोड़ 15 लाख रुपये की कर्ज माफी की गई है, कृषि विज्ञान केंद्र की खेती बाड़ी की दृष्टि से महत्वपूर्ण भूमिका है. बुन्देलखण्ड के सभी जिलों मे कृषि विज्ञान केंद्र बांदा कृषि विश्वविद्यालय के पर्यवेक्षण में कार्यरत है जनपद महोबा मे पिछले साल 60 लाख रुपये की लागत से सीड प्रोसेसिंग प्लांट लगाया था जिससे कि किसानो को उत्तम बीच उपलब्ध ही सके हमारी सरकार किसानो को खेती से उद्यम की ओर ले जाना चाहती है और इसी दिशा मे हम कम कर रहे है इस अवसर पर प्रदेश उपाध्यक्ष भाजपा दयाशंकर, हमीरपुर लोकसभा सांसद पुष्पेन्द सिंह चंदेल, जिलाध्यक्ष भाजपा महोबा जितेन्द्र सिंह सेंगर, ब्लॉक प्रमुख प्रतिनिधि जैतपुर डॉ कौशल सोनी, केंद्र प्रबन्धक- डॉ मुकेश अग्रवाल, भगवत शरण, हरिसिंह, महेन्द्र राजपूत, अरुण मिश्रा महेन्द्र राजपूत समेत अन्य किसान मौजूद रहे।
रिपोर्ट – योगेश कुमार चौबे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »
क्रान्ति न्यूज - भ्रष्टाचार के खिलाफ क्रांति की मशाल