Whistleblower की जिन्दगी, मतलब भ्रष्टाचारियों की मौत

Whistleblower तभी जिंदा रह सकता है जब उसके द्वारा उठाये गये मामलों पर उसे बेवजह बुला-बुला कर प्रताड़ित करने, डराने व धमकाने की अपेक्षा उसके द्वारा दिये गये तकनीकी सबूतों व पीड़ित के द्वारा पूर्व में दिये गये ब्यान पर जाँच करते हुये कार्यवाही की जाये|

हमें हजारों-लाखों की संख्या में Whistleblower और भगत सिंह चाहिये, जिससे इन भ्रष्टाचारियों का खात्मा किया जा सके, मगर यह भ्रष्टाचारी व्यवस्था के नुमाईंदे पुरजोर तरीके से अपनी दबंगई, प्रभाव व कालेधन का इस्तेमाल करके Whistleblower की आवाज़ को दबाने का प्रयास करते हैं|

ठीक ऐसा ही ‘भ्रष्टाचार विरूद्ध जागृति अभियान’ की गुरूग्राम की सदस्या ‘Whistleblower परमिंदर कौर के द्वारा की गई शिकायत पर’ लुधियाना पुलिस लगातार पिछले 2 वर्षों से काम कर रही है| लुधियाना पुलिस सबूतों के साथ फँस गये भ्रष्ट पुलिस कर्मियों को बचाने के लिये ‘भ्रष्टाचार विरूद्ध जागृति अभियान’ की गुरूग्राम की सदस्या ‘Whistleblower परमिंदर कौर को बिना किसी कारण लुधियाना के टिब्बा रोड़ पुलिस थाने में ब्यान के नाम पर बुलाने की कोशिश कर रही है, जिससे ‘Whistleblower परमिंदर कौर’ अपनी की गई शिकायत को वापिस ले लें या कभी शिकायत पर कार्यवाही पर पूछताछ न करें|

जबकि दुनिया की कोई भी अदालत या बुद्धिजीवी यह सिद्ध कर दें कि, ‘हाँ Whistleblower परमिंदर कौर के पुलिस थाने जाये बिना यह मामला सुलझ नहीं सकता’|

सारे सबूत लुधियाना पुलिस के पास मौजूद हैं मगर कोई Whistleblower आगे बढ़कर शिकायत ना किया करे इसलिये लुधियाना पुलिस बार-बार Whistleblower परमिंदर कौर को पुलिस थाने आने के लिये कह रही है अभी कल दिनांक 13.12.2019 को भी AD-PBSANJ से इसी प्रकार का SMS भेजा गया है जिसकी वजह से आज Whistleblower परमिंदर कौर की तरफ से यह निम्न ईमेल भेजा गया हैः


दिनांक : 14.12.2019
सेवा में,

  1. माननीय राष्ट्रपति महोदय
  2. प्रधानमंत्री महोदय
  3. माननीय सुप्रीम कोर्ट
  4. राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग
  5. माननीय पंजाब और हरियाण हाई कोर्ट
  6. माननीय राज्यपाल (पंजाब)
  7. चीफ सेक्रेटरी (पंजाब)
  8. पंजाब राज्य मानवाधिकार आयोग
  9. डायरेक्टर जनरल ऑफ पुलिस (पंजाब)
  10. लुधियाना पुलिस कमिश्नर
  11. डिप्टी कमिश्नर ऑफ पुलिस
  12. असिस्टेंट कमिश्नर ऑफ पुलिस
  13. PB Saanjh (पंजाब)
  14. टिब्बा पुलिस थाना (लुधियाना)

विषयः “PB Saanjh व लुधियाना पुलिस, Whistleblowers व गलत के खिलाफ आवाज उठानेवालों की आवाज पर कार्यवाही करने की अपेक्षा उनकी आवाज दबाते हुये भ्रष्ट अधिकारियों को बचाने की कोशिश के मामले में ” संज्ञान लेते हुये आवश्यक कार्यवाही किये जाने हेतु|

संदर्भः 1. दिनांक 13.01.2019 को AD-PBSANJ द्वारा शाम 5:01 बजे मोबाईल नंबर 9313050992 पर भेजा गया SMS (Dear PARMINDER KAUR ANIT CORRUPTION AWERNESS S/o Please visit the PS Tibba Ludhiana City office tomorrow 14-12-2019 at 10:00 AM to know the status of your complaint/case (UID 1554756) From Commissioner of Police Ludhiana)

  1. दिनांक 01.06.2019 को pstibbaldh@gmail.com, cp.ldh.police@punjab.gov.in, pshrc.chd@gmail.com को भेजा गया ईमेल

महोदय,

समाज में व्याप्त अपराध को रोकने के लिये भ्रष्ट अधिकारियों व अपराधियों पर कार्यवाही किया जाना अति आवश्यक है जिसके लिये पीड़ित को बेहतर गाईडलाइन के साथ सच्चे गवाहों व Whistleblowers की आवश्यकता बेहद जरूरी है जिसके लिये संविधान में कानून भी है कि, ‘अपराध की जानकारी देनेवाले का नाम गुप्त रखा जायेगा व उसे Whistleblower एक्ट के तहत संपूर्ण सुरक्षा दी जायेगी व उसे किसी भी प्रकार के बेवजह दिये जाने वाले कष्ट से मुक्त रखने की कोशिश प्रशासनिक व्यवस्था रखेगी, मगर निम्न आधार यह साबित करते हैं कि, PB Saanjh व लुधियाना पुलिस सबूतों के साथ भ्रष्ट अधिकारियों के खिलाफ की गई शिकायतों पर कार्यवाही करने की अपेक्षा लगातार 2 वर्षों से आवाज उठानेवाले Whistleblower की आवाज को दबाने का लगातार प्रयत्न कर रही हैः-

  1. Whistleblower परमिंदर कौर की तरफ से Whistleblower मुकेश ठाकुर व पीड़ित जयहिंद उर्फ लकी गुप्ता के मामले में सबूतों के साथ शिकायतें भेजी गई थीं जिसकी किसी भी प्रकार की ना तो जाँच की गई और ना ही Whistleblower व पीड़ीत से कोई भी ब्यान लिये गये|
  2. तकनीकी सबूतों (सी.सी.टी.वी. फुटेज, मोबाईल लोकेशन व मोबाईल कॉल डीटेल्स) को रिकॉर्ड पर नहीं लाया गया जबकि तुरंत बताया गया था कि, भ्रष्ट अधिकारियों ने अपनी वर्दी की ताकत का दबदबा कायम रखने के लिये खुलेआम Illegal Detention किया था और सुप्रीम कोर्ट भी कहता है कि, ‘CCTV footage is best evidence’ फिर भी तकनीकी सबूत रिकॉर्ड पर नहीं लिये गये जो पुलिस के पास मौजूद हैं|
  3. शिकायत के साथ लगातार Whistleblower मुकेश ठाकुर व पीड़ित जयहिंद उर्फ लकी गुप्ता का शपथ-पत्र सबूतों के साथ दिया गया है मगर फिर भी Whistleblower परमिंदर कौर की आवाज को दबाने व उसे डराने के लिये उसे उसके घर से लगभग 345 किली. दूर, अपना काम-धंधा छोड़कर बिना कारण पुलिस थाने में हाजिर होने के लिये कहा जा रहा है|
  4. ईमेल के द्वारा संपूर्ण विवरण सबूतों के साथ ‘पंजाब राज्य मानवाधिकार आयोग’, टिब्बा पुलिस थाना (लुधियाना), लुधियाना पुलिस कमिश्नर आदि सभी को भेजे गये थे मगर उन सबूतों को नहीं देखा जा रहा है और ना ही आज तक कार्यवाही की जा रही है|
  5. भ्रष्ट अधिकारियों के खिलाफ दिए गये सारे सबूत लुधियाना पुलिस के पास मौजूद हैं जिसकी जानकारी भी लुधियाना पुलिस को है और ऐसे में सबूत होने के बावजूद Whistleblower परमिंदर कौर उन सबूतों में कोई नया इजाफा नहीं करेंगी मगर फिर भी उन्हें बुलाया जाना साफ साबित कर रहा है कि भ्रष्ट अधिकारियों को सजा से बचाने के लिये लुधियाना पुलिस पूरी शक्ति से ज़ोर लगा रही है और इसी कारण Whistleblower परमिंदर कौर के हौसले को तोड़ने के लिये बिना वजह बुलाने की कोशिश की जा रही है|

उपरोक्त तथ्य साबित कर रहे हैं कि भ्रष्ट अधिकारियों को बचाने के लिये लुधियाना पुलिस को किसी तरह नये बहाने मिल जायें और फिर वह उन बहानों का सहारा लेकर मजबूत सबूतों को नजरअंदाज करें और मामलों को अंजाम तक पहुँचाये बिना बंद कर दें|

श्रीमान जी से आपसे अपील है कि समाज में व्याप्त अपराध को रोकने के लिये तकनीकी सबूतों का सहारा लिया जाये और आवाज उठानेवाले Whistleblowers के हौलसे को बुलंद रखने के लिये उन्हें संपूर्ण सुरक्षा दी जाये साथ ही उनके द्वारा सबूतों के साथ उठाये गये मामलों की बेहतरीन समीक्षा की जाये व अपराधियों को अंजाम तक पहुँचाया जाये साथ ही किसी भी Whistleblowers को ऐसा महसूस ना होने दिया जाये कि, ‘हमने कोई गलती की है’|

आशा है पत्र के मजमून व संदेश को समझ कर संज्ञान में लिया जायेगा और सामाजिक बदलाव के लिये अमल में लाया जायेगा|

परमिंदर कौर
पताः G-797, सन सिटी, सेक्टर 54,
गुडगाँव Mob. 93130-50992

पूरा मामला लिंक पर देखें :
http://www.whistleblower-mukeshthakur.bvbja.com

Translate »
क्रान्ति न्यूज - भ्रष्टाचार के खिलाफ क्रांति की मशाल