कोरोना के कारण मंदी की मार झेल रहे बाजार को धनतेरस ने फिर से उर्जा की प्रदान

जालंधर(विशाल) – दीवाली से एक दिन पहले धनतेरस पर खरीदारी करना शुभ माना जाता है। इसे लेकर शुक्रवार को शहर के बाजारों में सुबह से ही खरीदारी का दौर शुरू हो गया। त्योहारों को लेकर बाजारों के दुकानदारों ने भी राहत की सांस ली है। कोरोना के कारण मंदी की मार झेल रहे बाजार को भी धनतेरस ने फिर से उर्जा प्रदान कर दी है। आटो मार्केट से लेकर ज्वेलरी मार्केट व इलेक्ट्रानिक्स मार्केट से लेकर गिफ्ट बाजार तक ग्राहकों से गुलजार हैं। हर कोई इस शुभ मुहुर्त वाले दिन खरीदारी करने के लिए तैयार है।
शहर की गोल्ड मार्केट में तो धनतेरस को लेकर करियाना की दुकान की तरह भीड़ उमड़ पड़ी है। महिलाएं ही नहीं पुरुष भी इस शुभ दिन सोने की जमकर खरीदारी कर रहे हैं। इस बारे में ज्वेलर्स बताते हैं कि कई ग्राहकों ने एक-दो दिन पहले ही सामान पसंद करके बुक करवा दिया था। इसकी डिलीवरी धनतेरस वाले दिन ले रहे हैं। उन्होंने कहा कि धनतेरस को लेकर जहां कम वजन की ज्वलरी तैयार की गई है, वहीं कई तरह की स्कीमें भी दी जा रही हैं।
यह पहला अवसर था जब शहर का बर्तन बाजार सुबह 8 बजे ही खोल दिया गया। इलाके के दुकानदार बताते हैं कि लाकडाउन से पहले जो सामान स्टाक किया था, उसकी अब बिक्री की जा रही है। उन्होंने कहा कि महंगाई के दौर के बावजूद स्टील के बर्तनों के दामों में इजाफा नहीं हुआ है। लोग केवल जरूरत ही नहीं बल्कि शुभ होने के चलते भी खरीदारी कर रहे हैं।वही आटो मार्केट में भी रौनक लौट धनतेरस पर आटो मार्केट में सबसे अधिक मांग रहती है। इस दिन शुभ खरीदारी करने के लिए लोग वाहनों की खरीद करते हैं। इस बार दो व चारपहिया वाहनों की जमकर खरीदारी की गई। आटो मार्केट में कई तरह की स्कीमें भी लांच कर लोगों को लुभाया जा रहा है

Translate »
क्रान्ति न्यूज - भ्रष्टाचार के खिलाफ क्रांति की मशाल