सेहत विभाग ने घटिया क्वालिटी के खाद्य पदार्थ बेचने वालों पर कसा शिकंजा

जालंधर (विशाल ) – त्योहारों के दिनों में खाद्य पदार्थों की क्वालिटी को बरकरार रखने के लिए सेहत विभाग की ओर से विशेष मुहिम चलाई गई। सेहत विभाग ने  मिलावटी खाद्य पदार्थ बेचने वालों पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। विभाग के अधिकारी खाद्य पदार्थ तैयार करने वालों के साथ बैठक कर उन्हें अच्छी गुणवत्ता वाले खाद्य बेचने की हिदायतें दे रहे हैं।
जिला सेहत अधिकारी डा. एसएस नांगल की अगुआई में करतारपुर तथा आसपास के इलाकों में हलवाइयों व बेकरी वालों के साथ बैठक की। बैठक में उन्होंने खाद्य पदार्थ तैयार करते समय स्वच्छता को प्राथमिकता देने की बात पर जोर दिया। मिठाइयां तैयार करते समय बेहतरीन क्वालिटी का घी, रिफाइंड आयल, बेसन व अन्य इस्तेमाल होने वाला समान इस्तेमाल करने की हिदायतें दी। उन्होंने गहरे रंगों वाली मिठाइयां तैयार न करने की सलाह दी।
रंगदार मिठाइयों में केवल मान्यता प्राप्त रंगों का निर्धारित मात्रा में ही इस्तेमाल करने की हिदायतें दी। निम्नस्तरीय रंगों का इस्तेमाल करने से मिठाइयों की क्वालिटी खराब होने के साथ लोगों के लिए भी घातक सिद्ध होती हैं। लोगों की स्वास्थ्य सुरक्षा से खिलवाड़ करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की चेतावनी दी। इसके अलावा कोरोना महामारी के चलते दुकानों पर पूरी सावधानियां बरतने की बात कही। बैठक में फूड सेफ्टी अफसर रोबिन कुमार व रमन विरदी के अलावा इलाके के हलवाई व बेकरी वाले मौजूद थे।

Translate »
क्रान्ति न्यूज - भ्रष्टाचार के खिलाफ क्रांति की मशाल