भाजपा सांसद, विधायक ने उत्तराखंड पुलिस पर लगाये वाहनों से अवैध वसूली के गंभीर आरोप, पीएमओ व सीएम समेत उच्चाधिकारियों को लिखे पत्र

ऐजाज हुसैन ब्यूरो उत्तराखंड

वाहनों से अवैध वसूली

लालकुआं/उधमसिंह नगर। बदायूं जिले के बिल्सी से भाजपा विधायक के बाद अब आंवला लोकसभा क्षेत्र के भाजपा सांसद धर्मेंद्र कश्यप ने उत्तराखंड पुलिस पर अवैध वसूली के गम्भीर आरोप लगाए हैं। एक के बाद एक लगातार लग रहे आरोपों के बाद अब लालकुआं व उधमसिंह नगर पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवालिया निशान लगने लगे हैं।
बताते चलें कि उत्तर प्रदेश के वाहन स्वामियों की शिकायत पर अक्टूबर माह में बिल्सी के भाजपा विधायक पंडित राधा कृष्ण शर्मा ने उत्तराखंड के पीएमओ, मुख्यमंत्री समेत प्रदेश के तमाम अधिकारियों को शिकायती पत्र भेजा था। जिसमें लालकुआं समेत नैनीताल व उधमसिंह नगर के कई कोतवाली व थाना क्षेत्र में पुलिस द्वारा वाहनों से अवैध वसूली की शिकायत की गई थी। जिसमें विधायक ने पुलिस पर चैकिंग के नाम पर महीना लेने व अवैध वसूली का आरोप लगाते हुए कार्यवाही की मांग की थी। जिसके बाद पुलिस विभाग द्वारा मामले की जांच की जा रही है। वहीं शनिवार को उत्तर प्रदेश के ही आंवला लोकसभा क्षेत्र के सांसद धर्मेंद्र कश्यप ने भी उत्तराखंड के मुख्यमंत्री को पत्र भेजकर लालकुआं एवं उधमसिंह नगर पुलिस पर उत्पीड़न का आरोप लगाया है। पत्र में कहा गया है कि पुलिस द्वारा महीना लेकर ओवरलोड उपखनिज का परिवहन कराया जा रहा है। जिससे जहां करोड़ों की लागत से बनी सड़कों की दुर्दशा हो रही है, वहीं ईमानदारी से चलने वाले वाहन स्वामी बेरोजगार हो रहे हैं।
जीरो टोरलेंस का दावा करने वाली उत्तराखंड सरकार में पुलिस पर अवैध वसूली के गंभीर आरोप लगे हैं। यह आरोप किसी विरोधी दल के नेता ने नहीं बल्कि खुद भारतीय जनता पार्टी के उत्तर प्रदेश के जनपद बदायूं के बिल्सी से विधायक पंडित राधा कृष्ण शर्मा ने लगाया है। उन्होंने लालकुआं समेत नैनीताल व उधमसिंह नगर पुलिस पर उपखनिज ढ़ोने वाले उत्तर प्रदेश के वाहन चालकों व स्वामियों से अवैध वसूली का आरोप लगाते हुए मुख्यमंत्री, पीएमओ, केंद्रीय परिवहन मंत्री समेत प्रदेश के तमाम वरिष्ठ अधिकारियों को लिखित शिकायत भेजी है। जिसके बाद पुलिस व प्रशासन ने मामले में जांच बैठा दी है।
विदित रहे कि नैनीताल जनपद के लालकुआं से उत्तर प्रदेश के तमाम शहरों में उपखनिज का परिवहन किया जाता है और रोजाना सैकड़ों वाहन ओवरलोड उपखनिज लेकर उत्तर प्रदेश जाते हैं। आरोप है कि पुलिस ओवरलोड वाहनों से बकायदा महीना बसूलती है, जबकि जो वाहन ईमानदारी से चलता है उसको तमाम कमियां गिनाकर उनका उत्पीड़न किया जा रहा है। पुलिस के उत्पीड़न से त्रस्त होकर अक्टूबर माह में उत्तर प्रदेश के वाहन स्वामियों द्वारा बिल्सी के भाजपा विधायक पंडित राधा कृष्ण शर्मा से लालकुआं समेत नैनीताल व उधमसिंह नगर के कई कोतवाली व थाना क्षेत्र में पुलिस द्वारा वाहनों से अवैध वसूली की शिकायत की। जिसके बाद भाजपा विधायक ने उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, पीएमओ, परिवहन मंत्री नितिन गड़करी समेत प्रदेश के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ ही नैनीताल व उधमसिंह नगर के जिलाधिकारी व एसएसपी को शिकायती पत्र भेजा। जिसमें कहा गया है की लालकुआं से आने वाले वाहनों से पुलिस द्वारा जमकर अवैध वसूली की जा रही है। जो वाहन स्वामी महीना देकर कोतवाली क्षेत्र की इंट्री करते हैं उनको चैक पोस्ट में तैनात किए गए प्राइवेट लड़के पहले ही सूचना दे देते हैं। जिसके बाद पुलिस चैकिंग के नाम पर ईमानदारी से चलने वाले वाहन चालकों से अवैध वसूली करती है तथा पैसे नहीं देने पर वाहनों को सीज कर दिया जाता है। उन्होंने पुलिस पर भाजपा की जीरो टोरलेंस के आदेश की अवहेलना व सरकार की छवि धुमिल करने का आरोप लगाया है। साथ ही पुलिस द्वारा की जा रही अवैध वसूली पर रोक लगाने व भष्ट्राचारी पुलिस अधिकारियों के खिलाफ कार्यवाही करने की मांग की है। इधर विधायक की शिकायत के बाद मुख्यमंत्री कार्यालय ने संज्ञान लेते हुए मामले की जांच बैठा दी है। पुलिस क्षेत्राधिकारी बलजीत सिंह भाकुनी द्वारा वाहन चालकों व मोटर मालिकों के बयान लिए जा रहे हैं।
वहीं पुलिस क्षेत्राधिकारी लालकुआं बलजीत सिंह भाकुनी ने कहा उच्चाधिकारियों से मामले की जांच करने के आदेश मिले हैं। जिसमें जांच की जा रही है। जल्द ही रिपोर्ट तैयार कर उच्चाधिकारियों को भेज दी जाएगी।
इधर बिल्सी विधायक की शिकायत के बाद पुलिस स्वयं को बचाने की जुगत में लग गई है। सूत्रों से पता चला है कि पुलिस कुछ लोकल के वाहन स्वामियों व चालकों को अपने प्रभाव में लेकर उनके बयान लिए जा रहे हैं।

Translate »
क्रान्ति न्यूज - भ्रष्टाचार के खिलाफ क्रांति की मशाल