कोरोना के इलाज में प्लाज्मा थेरेपी कितनी कारगर? दिल्ली एम्स के डायरेक्टर डॉ. रणदीप गुलेरिया ने कहा- यह कोई जादू की गोली नहीं

बता दें कि, प्लाज्मा थेरेपी को बंद करने की अटकलों को लेकर दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने गुरुवार को कहा कि कोरोना वायरस के इलाज में प्लाज्मा थेरेपी की शुरुआत सबसे पहले दिल्ली सरकार ने की थी और अमेरिका ने भी दिल्ली की प्लाज्मा ​थेरेपी की तारीफ की है। उन्होंने कहा कि अब तक दिल्ली में दो हजार से भी ज्यादा लोगों को प्लाज्मा ​थेरेपी दी जा चुकी है, लेकिन अब केंद्र सरकार इसमें राजनीति कर रही है।

उन्होंने कहा कि ICMR और एम्स मिलकर जो रिसर्च कर रहे ​थे वो उनसे हो नहीं पाई। प्लाज्मा थेरेपी की सफलता का क्रेडिट दिल्ली सरकार को न मिल जाए इसलिए इस पर राजनीति हो रही है। मेरी केंद्र सरकार से गुजारिश है कि राजनीति के तहत प्लाज्मा थेरेपी को बंद न किया जाए।

जैन ने कहा है कि दिल्ली में प्लाज्मा थेरेपी का प्रयोग अब तक सफल रहा है। इससे मृत्यु दर को घटाने में मदद मिली है। उन्होंने कहा कि दिल्ली में 2000 से अधिक लोगों को अब तक प्लाज्मा थेरेपी से ठीक किया जा चुका है। उसमें खुद मैं भी शामिल हूं।

Translate »
क्रान्ति न्यूज - भ्रष्टाचार के खिलाफ क्रांति की मशाल