वार-पलटवार: तेजस्वी यादव और चिराग पासवान ने कैसे JDU के जुबानी ‘तीर’ को PM मोदी की ओर मोड़ दिया?

बिहार विधानसभा चुनाव के पहले चरण के लिए प्रचार के आखिरी दिन नीतीश कुमार और उनकी पार्टी जदयू तेजस्वी यादव और चिराग पासवान पर हमलावर दिखी। एक ओर जहां नीतीश कुमार ने तेजस्वी यादव पर निशाना साधने के दौरान लालू प्रसाद यादव के परिवार पर टिप्पणी की तो दूसरी ओर जदयू नेता संजय झा ने चिराग पासवान को जमूरा बताया। इन दोनों टिप्पणियों पर असली घमासान मंगलवार को देखने को मिला, जब तेजस्वी और चिराग ने अलग-अलग काउंटर अटैक किया। तेजस्वी ने जहां नीतीश कुमार के बयान को पीएम मोदी से जोड़ा, वहीं चिराग ने भी जदयू नेता संजय झा के बयान को प्रधानमंत्री से कनेक्ट कर दिया। 

दरअसल, सोमवार  26 अक्टूबर को बिहार के मुख्यमंत्री और जदयू मुखिया नीतीश कुमार ने वैशाली जिले में एक रैली के दौरान इशारों-इशारों में लालू प्रसाद यादव के परिवार पर टिप्पणी की थी। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिना किसी का नाम लिए कहा था कि 8-8, 9-9 बच्चे पैदा करने वाले बिहार का विकास करने चले हैं। बेटे की चाह में कई बेटियां हो गईं। मतलब बेटियों पर भरोसा नहीं है। ऐसे लोग क्या बिहार का भला करेंगे।’

नीतीश की इस टिप्पणी पर बवाल मच गया और तेजस्वी यादव ने पलटवार करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी बहस के केंद्र में ला दिया। तेजस्वी ने काउंटर अटैक करते हुए कहा, ‘नीतीश जी हमारे बहाने पीएम मोदी पर निशाना साध रहे हैं, क्योंकि पीएम के भी तो 6-7 भाई बहन हैं। हमने पहले भी कहा है कि नीतीश जी थक चुके हैं। वो हमें कितना भी गाली दें लेकिन वो बेरोज़गारी, गरीबी पर बात नहीं करना चाहतें। अगर ऐसी बोली वो बोलते हैं तो वो महिलाओं की मर्यादा को ठेस पहुंचा रहें।

इस तरह से जहां नीतीश कुमार चुनावी सभा में तेजस्वी यादव और उनके परिवार को घेरने की कोशिश कर रहे थे, तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार के छोड़े तीर को पीएम मोदी की ओर कर दिया है। तेजस्वी यादव ने नीतीश के बयान को पीएम मोदी के परिवार से भी जोड़ दिया है। सिर्फ तेजस्वी ही नहीं, लोजपा प्रमुख चिराग  पासवान ने भी जदयू के अटैक पर पीएम मोदी का जिक्र किया है। चिराग पासवान ने संजय झा के बयान को प्रधानमंत्री का अपमान बताया है। दरअसल, कल जदयू के राष्‍ट्रीय महासचिव संजय झा ने चिराग पर हमला करते हुए कहा था कि चिराग जमूरा हैं जो किसी और की धुन पर नाच रहे हैं। इस पर मंगलवार को चिराग ने पलटवार किया और कहा कि यदि मैं जमूरा हूं तो मदारी कौन है? उन्‍होंने कहा कि उन पर प्रधानमंत्री के इशारे पर काम करने का आरोप लगाया जा रहा है। इसके बाद यदि उन्‍हें जमूरा कहा जा रहा तो यह किसका अपमान है। आप मुझे जमूरा कहकर प्रधानमंत्री का अपमान कर रहे हैं। बता दें कि कल यानी 27 अक्टूबर को पहले चरण की वोटिंग होगी।

Translate »
क्रान्ति न्यूज - भ्रष्टाचार के खिलाफ क्रांति की मशाल