राजकीय मेडिकल कॉलेज हल्द्वानी के पीजी डॉक्टरों की हड़ताल, एसटीएच में भर्ती मरीजों के इलाज पर पड़ रहा असर

ऐजाज हुसैन ब्यूरो उत्तराखंड

हल्द्वानी। राजकीय मेडिकल कॉलेज हल्द्वानी में पीजी (जेआर) यानी एमडी और एमएस कर रहे डॉक्टर हड़ताल पर चले गए हैं, जिस वजह से मरीजों के इलाज में दिक्कत होना शुरू हो गई है। हड़ताली पीजी डॉक्टरों का कहना है कि सरकार द्वारा उन्हें आधा वेतन दिया जा रहा है, जबकि पूर्व में पूरा वेतन दिया जाता था इसके बाद वह कोर्ट में भी गए लेकिन 6 जनवरी को इसी साल मुख्यमंत्री ने सभी पीजी डॉक्टरों को पूर्ण वेतन दिए जाने की घोषणा की, लेकिन 9 महीने बीत जाने के बाद भी डॉक्टरों को पूरा वेतन नहीं दिया जा रहा है। इसलिए पिछले महीने सांकेतिक हड़ताल के बाद सरकार ने 1 महीने का वक्त मांगा था जो कि अब पूरा हो गया है इसीलिए सभी पीजी डॉक्टर हड़ताल पर चले गए हैं।
वहीं राजकीय मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य चंद्र प्रकाश का कहना है पीजी डॉक्टरों से बात की जा रही है, साथ ही उनसे आग्रह किया जा रहा है कि उनकी मांगों को शासन तक पहुंचा दिया गया है, जब तक शासन कोई निर्णय नहीं लेता उन्हें अपनी हड़ताल वापस लेनी चाहिए। जबकि हड़ताल पर गए डॉक्टरों का कहना है कि उनकी पूर्ण वेतन दिए जाने की मांग पर लिखित आश्वासन दिया जाये तथा कैबिनेट में जब तक पास नहीं हो जाता तब तक वह हड़ताल पर रहेंगे।
बताते चलें कि डॉक्टरों की हड़ताल का सीधा असर सुशीला तिवारी अस्पताल हल्द्वानी में भर्ती मरीजों के उपचार पर पड़ रहा है। जिससे मरीजों के साथ साथ तीमारदार भी परेशान हैं।

Translate »
क्रान्ति न्यूज - भ्रष्टाचार के खिलाफ क्रांति की मशाल