कागजों में चल रहा धान क्रय केंद्र मौके से गायब केंद्र प्रभारी कर्मचारी व सेंटर

कैसे होगी किसानों की आमदनी दोगुनी सरकार का साथ नहीं दे रहे हैं कर्मचारी अधिकारी

अजय कुमार सिंह ब्यूरो चीफ शाहजहाँपुर

शाहजहांपुर,जिले के अन्तर्गत एक गांव में उत्तर प्रदेश शासन द्वारा स्वीकृत धान क्रय केंद्र का मौके पर कोई अता पता नहीं है।सिर्फ कागजों में चलता मिला धान क्रय केंद्र अधिकारी,कर्मचारी काण्टा,बाँट,केंद्र सभी लापता है।
प्राप्त विवरण के अनुसार मेरे स्थानीय सम्बददाता को स्थानीय लोगों द्वारा अवगत कराया गया कि तहसील तिलहर की ब्लाक मदनापुर के ग्राम पंचायत बरखेड़ा जयपाल में जौराभूड़ रोड पर धान क्रय केंद्र शासन द्वारा स्थापित है।मौके पर जाकर देखा गया तो कहीँ पर ना क्रय केंद्र है ना कर्मचारी अधिकारी यानी पूरा क्रय केंद्र ही मौके से गायब है।जब इस बावत प्रशासन के अधिकारी उपजिलाधिकारी तिलहर से सम्पर्क किया गया तो उन्होने इससे अनभिज्ञता जाहिर करते हुए कहा की इस बारे में उन्हें कोई जानकारी नहीं है।
जब अधिक गहनता से छानबीन की गयी तो पता चला की उक्त धान क्रय के प्रभारी का नाम आशीष गुप्ता है। जिसकी रिस्तेदारी तिलहर में है।अपने रिस्तेदारों को लाभ दिलाने की बजह से उसने अनधिकृत रुप से क्रय केंद्र को तिलहर स्थित मण्डी में लगा रखा है।जबकि बीच में कोई धान क्रय केंद्र ना होने से तिलहर के दक्षिण में जनपद बदायूँ तक का किसान त्राहि त्राहि कर रहा है।
प्रशासन की लापरवाही के कारण प्रधानमंत्री,मुख्यमंत्री के मिशन किसान की आमदनी दोगुनी करने के लक्ष्य को गहरा धक्का लग रहा है।

Translate »
क्रान्ति न्यूज - भ्रष्टाचार के खिलाफ क्रांति की मशाल