डीसी ऑफिस के बाहर मनरेगा कर्मचारियों ने किया प्रदर्शन, केंद्र और पंजाब सरकार के पुतले जलाए

जालंधर विशाल जालंधर में शनिवार को मनरेगा कर्मचारियों ने रेगुलर करने की मांग को लेकर केंद्र और कैप्टन सरकार के पुतले जलाए। कर्मचारियों ने कहा कि पंजाब सरकार ने उन्हें रमसा अध्यापकों की तर्ज पर पक्का करने का भरोसा दिया था, लेकिन अब सरकार इससे मुकर रही है।अगर सरकार ने उनकी मांगें नहीं मानीं तो संघर्ष और तेज किया जाएगा। सरकार की ओर से गठित कैबिनेट सब कमेटी में शामिल पांचों मंत्रियों के आवासों का घेराव किया जाएगापुतलों को आग के हवाले करने से पहले सरकारों के खिलाफ नारे लगाते कर्मचारी।पुतलों को आग के हवाले करने से पहले सरकारों के खिलाफ नारे लगाते कर्मचारी।प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे यूनियन के प्रधान सतनाम सिंह ने बताया कि पिछले 12 साल से ग्रामीण विकास और पंचायत विभाग में ड्यूटी कर रहे मनरेगा कर्मचारी रेगुलर करने की मांग कर रहे हैं।उन्होंने बताया पिछले दिनों मंत्री तृप्त राजेंद्र सिंह ने उच्च अधिकारियों की एक कमेटी गठित की थी। इसमें उन्हें रमसा अध्यापकों की तर्ज पर पक्का करने का भरोसा दिया गया था। आज तक उस कमेटी की ओर से कोई फैसला नहीं लिया गया है।सतनाम सिंह ने बताया कि अगर सरकार ने उनकी मांगें नहीं मानी तो संघर्ष और तेज किया जाएगा। सरकार की ओर से गठित कैबिनेट सब कमेटी में शामिल पांचों मंत्रियों के आवासों का घेराव किया जाएगा। उन्होंने कहा कि मनरेगा यूनियन की मुख्य मांगे एक्ट-2016 बिना बदलाव किए लागू करना, पुरानी पेंशन स्कीम बहाल करना, रेगुलर भर्ती का प्रबंध करना आदि हैं।

Translate »
क्रान्ति न्यूज - भ्रष्टाचार के खिलाफ क्रांति की मशाल