IPL 2020 MI vs CSK: धोनी का बड़ा बयान, कहा- इस वजह से प्लेऑफ में पहली बार नहीं पहुंच सकी टीम

आईपीएल 2020 के 41वें मैच में चेन्नई सुपर किंग्स की टीम को मुंबई इंडियंस के हाथों 10 विकेट से शर्मनाक हार का सामना करना पड़ा। इस हार के साथ ही सीएसके की प्लेऑफ में पहुंचने की उम्मीद भी लगभग खत्म हो गई। टीम के बल्लेबाजों के खराब प्रदर्शन के चलते मुंबई के खिलाफ टीम 20 ओवर में 9 विकेट के नुकसान पर 114 रन ही बना सकी। जवाब में मुंबई की टीम ने इस लक्ष्य को बिना कोई विकेट गंवाए 12.2 ओेवर में ही हासिल कर लिया। टीम की इस हार से कप्तान धोनी काफी निराश नजर आए और उन्होने पहली बार प्लेऑफ में नहीं जगह नहीं बना पाने की अहम वजह बताई। 

थोनी ने मुंबई के खिलाफ मिली हार के बाद कहा, ‘यह चोट पहुंचाता है। हमको देखने की जरूरत है कि क्या गलत हुआ है। यह साल हमारा साल नहीं था। इस साल सिर्फ एक या दो मैचों में ही हमने बैटिंग और बॉलिंग दोनों अच्छी करी बस। आप 10 विकेट से हारते है या फिर 8 विकेट से यह मायने नहीं रखता है।मुझे लगता है कि दूसरा मुकाबला पूरी तरह से गेंदबाजों का था। हमारी बैटिंग इस साल नहीं चली। रायुडू चोटिल हो गए और बाकी बल्लेबाज अच्छा परफॉर्म नहीं कर सके, जिसके चलते बैटिंग ऑर्डर पर प्रेशर बढ़ता चला गया। जब ओपनर अच्छी शुरुआत देने में नाकाम रहते हैं, तो मि़डिल ऑर्डर के बल्लेबाजों पर काफी दबाव पड़ जाता है। क्रिकेट में जब आप एक मुश्किल दौर से गुजर रहे होते हैं, तो आपको लक की भी जरूरत होती है, लेकिन इस टूर्नामेंट में हमारे पक्ष में कुछ भी नहीं रहा।’

शारजाह में खेले गए इस मैच में मुंबई इंडियंस की टीम ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया। पहले बल्लेबाजी करने उतरी चेन्नई की शुरुआत बेहद खराब रही और पावरप्ले खत्म होते-होते सीएसके की आधी टीम पवेलियन लौट गई, टीम की तरफ से सैम कुर्रन ने 52 रनों की पारी खेलकर चेन्नई को 20 ओवर में 114 रनों के स्कोर तक पहुंचाया। मुंबई की तरफ से ट्रेंट बोल्ट ने शानदार गेंदाबजी करते हुए 4 विकेट अपने नाम किए। 115 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए मुंबई ने ईशान किशन (नॉटआउट 68) और क्विंटन डिकॉक ( नॉटाउट 46) की पारियों की मदद से बिना कोई विकेट गंवाए इस मैच को अपने नाम कर लिया। 
 

Translate »
क्रान्ति न्यूज - भ्रष्टाचार के खिलाफ क्रांति की मशाल