RJD के नौकरी के वादे पर BJP का नहले पर दहला कोरोना वैक्सीन से मां सीता के मंदिर तक, जानें बिहार में किसके घोषणा पत्र में क्या है

बिहार विधानसभा के चुनावी अखाड़े में दमखम दिखाने को सभी राजनीतिक पार्टियां तैयार हैं। बिहार के चुनावी रण में बाजी मारने के लिए सबी दलों ने चुनावी वादों की झड़िया लगा दी है। भाजपा, राजद से लेकर लोजपा तक, सभी ने बिहार की जनता को लुभाने के लिए अपना-अपना घोषणा-पत्र जारी कर दिया है। 28 अक्टूबर को बिहार में पहले चरण के चुनाव के लिए वोटिंग है, इससे ठीक पहले अब करीब सभी पार्टियों का मेनिफेस्टो सामने आ गया है, जिसके आधार पर बिहार की जनता अपना मत निर्धारित कर सकती है। राजद ने जहां अपने घोषणा पत्र में 10 लाख नौकरी का वादा कर सबसे बड़ा चुनावी दांव खेला है तो वहीं लोजपा ने सीता मैया का मंदिर बनवाने का वचन दिया है। इधर भारतीय जनता पार्टी ने भी अपना  5 सूत्र, एक लक्ष्य, 11 संकल्प के विजन डाक्‍यूमेंट जारी किया है। तो चलिए जानते हैं किस पार्टी के घोषणा-पत्र में क्या है…

महागठबंधन का घोषणा पत्र में क्या-क्या वादें
बिहार विधानसभा चुनाव के लिए महागठबंधन ने नवरात्र के पहले दिन अपना घोषणा-पत्र जारी किया। महागठबंधन ने साझा घोषणापत्र को बदलाव के संकल्प पत्र का नाम दिया है। आरजेडी के साथ-साथ कांग्रेस और वाम दलों में सरकार गठन के बाद बिहार के लिए जो प्राथमिकताएं तय की है उसका जिक्र इस घोषणापत्र में किया गया है।  

  1. पहली कैबिनेट में दस लाख नौजवानों को रोजगार 
  2. परीक्षा के लिए भरे जाने वाले आवेदन फार्म पर फीस माफ 
  3. परीक्षा केंद्रों तक जाने का किराया सरकार देगी
  4. पलायन रोकने के लिए करेंगे काम 
  5. शिक्षकों के लिए समान काम समान वेतन का वादा
  6. जीविका दीदियों का मानदेय दोगुना करने का वादा 
  7. पहले विधानसभा सत्र में केंद्र के कृषि संबंधी तीनों बिल के प्रभाव से बिहार के किसानों को मुक्ति दिलाने का वादा किया गया है।

भाजपा के घोषणा-पत्र में क्या-क्या

बीजेपी ने बिहार के लिए अपने विजन डाक्‍यूमेंट में 11 संकल्प किए हैं। इनमें सबसे पहला है कि अगर सत्ता में आए तो कोरोना वैक्सीन का मुफ्त टीकाकरण किया जाएगा। बीजेपी ने अपने संकल्प पत्र में 19 लाख नौकरी देने का भी वादा किया है। तो चलिए जानते हैं अन्य वादे…

  1. कोरोना वैक्सीन उपलब्ध होने पर हर बिहारवासी का मुफ्त में होगा टीकाकरण
  2. सरकार बनने के एक साल के भीतर हर तरह के स्कूलों और विश्वविद्यालयों में 3 लाख शिक्षकों की भर्ती का वादा
  3. एक करोड़ महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने का वादा
  4. बीजेपी ने अपने संकल्प पत्र में कुल 19 लाख रोजगार देने का भी वादा किया है
  5. 2022 तक 30 लाख लोगों को पक्के मकान देने का वादा
  6. मेडिकल और इंजीनियरिंग समेत सभी तकनीकी कोर्स को हिन्दी भाषा में उपलब्ध कराने का वादा

कांग्रेस का घोषणा-पत्र
बिहार में अगले हफ्ते से शुरू हो रहे विधानसभा आम चुनाव को लेकर कांग्रेस ने बुधवार को अपना महागठबंधन से अलग एक घोषणा पत्र जारी किया। पार्टी ने इसे बिहार बदलाव पत्र नाम दिया है। इस घोषणा पत्र में कांग्रेस ने बिहार के किसानों से सत्ता में आने पर मुफ्त बिजली और कर्ज माफ करने का वादा किया है। 

  1. सत्ता में आने पर किसानों का कर्ज माफ
  2. गरीबों का बिजली बिल माफ
  3. किसानों के सही फसल का सही मूल्य दिलाने का वादा
  4. कृषि कानूनों को खारिज करने का वादा
  5. नौकरी मिलने तक बेरोजगारों को हर महीने 1500 रुपए देने का वादा
  6. विधवा महिलाओं को ₹1000 का पेंशन देने का वादा

लोजपा का घोषणा-पत्र
बिहार विधानसभा चुनाव के लिए लोजपा ने विजन डाक्यूमेट जारी किया। लोजपा प्रमुख चिराग पासवान ने घोषणा पत्र के तौर पर डाक्यूमेंट जारी करते हुए सीता मैया का भव्य मंदिर बनाने का वादा किया। जानिए उनके प्रमुख वादे…

  1. बिहार फर्स्ट बिहारी फर्स्ट के लागू होने से सभी महिलाओं को मुफ्त में बस यात्रा की सुविधा मिलेगी।
  2. समान काम समान वेतन का वादा
  3. सभी विभागों के अनुमोदित व स्वीकृत पदों में शीघ्र बहाली
  4. अत्याधुनिक कैंसर संस्थानों की स्थापना का वादा
  5. बिहार फर्स्ट बिहारी फर्स्ट युवा आयोग का गठन का वादा
  6. माता सीता का भव्य मंदिर निर्माण का वादा
  7. अनुसूचित जाति-जनजाति छात्रावास को वाई-फाई, लाइब्रेरी, मेस, खेलकूद सामग्री, व सुरक्षा गार्ड के साथ आधुनिक बनाने का वादा

एनडीए का घोषणा-पत्र अब तक नहीं आया

यहां ध्यान देने वाली बात है कि अब तक एनडीए ने अपना घोषणा-पत्र जारी नहीं किया है और उम्मीद की जा रही है कि आज-कल में एनडीए अपना घोषणा पत्र जारी करेगा। लेकिन एनडीए ने बिहार चुनाव को लेकर अपना रिपोर्ट कार्ड जरूर जारी किया है। तो चलिए जानते हैं एनडीए की रिपोर्ट कार्ड में क्या है..

एनडीए का रिपोर्ट कार्ड

रिपोर्ट कार्ड में सबसे पहले जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने और अयोध्या में राम मंदिर की नींव रखने को शामिल किया गया है। जबकि मुस्लिम महिलाओं को तीन तलाक से आजादी दिलाने को भाजपा ने अपनी वैचारिक पृष्ठभूमि को नया आयाम देना बताया है। रिपोर्ट कार्ड में सड़कों का हवाला देते हुए कहा गया है कि 2775 किमी एनएच को फोरलेन बनाया। गांव की हर गली-नली का निर्माण और पक्की सड़कों का जाल बिछाया। आजादी के 58 वर्षों तक गंगा नदी पर चार पुल थे। 15 वर्षों में 13 नए पुलों में दो बन गए तो आठ निर्माणाधीन व तीन प्रस्तावित हैं। 2005 से पहले कोसी पर दो पुल थे जो अब छह और गंडक पर तीन थे तो अब चार नए पुल निर्माणाधीन व प्रस्तावित हैं। कोसी महासेतु पर रेल का परिचालन होने से मिथिलांचल का निर्बाध जुड़ाव हुआ। 150 वर्षों के बाद कोईलवर पुल के समानांतर छह लेन पुल का निर्माण कार्य प्रगति में है जिसमें दो लेन अगले दो महीने में चालू हो जाएगा।

Translate »
क्रान्ति न्यूज - भ्रष्टाचार के खिलाफ क्रांति की मशाल