क्षत्रिय देश के रक्षक एवं महान् शासक थे । इस समाचार के चौथा भाग यहां से पढ़िए ——

(कवि अनिरुद्ध कुमार सिंह के द्वारा) – क्रांति न्यूज, ब्यूरो प्रमुख, गाज़ियाबाद :-आज के समय में कुछ संकुचित मानसिकता से ग्रस्त लेखक एवं पत्रकार किताब लिखकर जनता के सामने राजपुतों के इतिहास को गलत ढंग से लिखकर अपने आपको महान समझ रहे हैं ।वे सोच रहे हैं कि हम सब राजपुतों से ज्यादा समझदार हो गये हैं ।आपका यह भ्रम आपको ले डुबेगा । क्षत्रिय समाज के इतिहास को दुनिया में कोई माई का लाल पैदा नहीं लिया है, जो इस धरती से मिटा दे ।चाहे वह कितना भी पढ़ा लिखा ‌कयों नहीं हो । इसलिए क्षत्रिय विरोधी लेखक जरा सावधान हो जाएं वरना पछताने के सिवा कुछ भी हाथ में नहीं आयेंगे । आप बिना सोचे समझे हीं जो कुछ भी लिख और बोल रहे हैं ,उसका आपको मुंहतोड़ जवाब दिया जायेगा । आप चिंता नहीं करें ।जो लेखक एवं पत्रकार अपने आप को हीरों समझकर क्षत्रिय समाज के महापुरुषों के जीवन पर कीचड़ उछालने के काम कर रहे हैं,उन सभी के उपर क्षत्रिय समाज के पैनी नजर है ।जो जैसा कर रहे हैं, उन्हें वैसे ही जवाब दिए जायेंगे । मुझे क्षत्रिय समाज से भी कहना है कि आपका भी परम कर्तव्य है कि अपना इतिहास को कलंकित होने से बचाएं । सिर्फ रुपए कमाने से काम नहीं चलेगा । आप याद रखें ,जिस समाज का इतिहास मिट जाता है,उस समाज का नामोनिशान भी मिट जाता है । फिर वह गुलामी की जंजीरों में जकड़ा रहता है । इसलिए अभी से सावधान हो जाइए, वरना पछताने के सिवा कुछ भी हाथ में नहीं आयेंगे । आज क्षत्रिय विरोधी लेखक एवं पत्रकार राजपुतों के गौरव को मिटाने पर तुले हुए हैं । कुछ मुट्ठी भर लेखक एवं पत्रकार इस देश में राजपुतों के महान नायक पर गंभीर आरोप लगाकर चैन से ऐसे घूम रहे हैं, जैसे इन बाबू साहब ने बहुत बड़े काम कर दिए हों । राजपुत समाज उनके हीं भाषा शैली में मुंहतोड़ जवाब देंगे । क्षत्रिय विरोधी भाई आप खूब लिखें, उससे क्षत्रिय समाज के महापुरुषों के जीवन चरित्र पर कोई असर नहीं पड़ने वाला है क्योंकि क्षत्रिय समाज हर प्रश्न का मुंहतोड़ जवाब जानते हैं ।जो लेखक- पत्रकार क्षत्रिय महापुरुषों के नाम को बदनाम कर रहे हैं, उन्हें इस देश में बहुत भारी समस्याओं का सामना करना पड़ेगा , जिसे आपने कल्पना भी नहीं किए होंगे । मैं क्षत्रिय भाइयों से कहना चाहता हूं कि आपके महापुरुषों पर किसने क्या कहा, उसे पहले पढ़िए और उनको उसी शैली में जवाब दीजिए,जिस तरह से उसने आरोप लगाया है । मैं आप सभी के सामने सच्चाई से क्षत्रिय विरोधी के आरोप ( शिकायत) को इस समाचार के पांचवें भाग ————-में रखूंगा, जिसे आप ध्यान पूर्वक पढ़कर अमल कीजियेगा । जय, जय, जय श्री राम ।

Translate »
क्रान्ति न्यूज - भ्रष्टाचार के खिलाफ क्रांति की मशाल