आमरण अनशन पर बैठे महंत परमहंस दास अयोध्या में , भारत को हिंदू राष्ट्र बनाने की कर रहे थे मांग

अयोध्या में बीते आठ दिनों से भारत को हिंदू राष्ट्र बनाने की मांग को लेकर आमरण अनशन पर बैठे तपस्वी छावनी के महंत परमहंस दास को पुलिस ने जबरन उठा दिया है। मंगलवार देर रात जिला प्रशासन के निर्देश पर उन्हें अनशन स्थल से जबरन उठा लिया गया है।

बताते चलें कि लगातार बिना कुछ खाए पिए आमरण अनशन पर बैठे महंत परमहंस दास का स्वास्थ्य लगातार बिगड़ रहा था।बीते आठ दिनों में उनका वजन नौ किलो कम हो गया था। महंत परमहंस दास को अनशन स्थल से उठाए जाने की चर्चा बीते दो दिनों से चल रही थी। इसी कड़ी में मंगलवार की देर रात करीब 11:30 बजे अचानक एक एंबुलेंस अनशन स्थल पर पहुंची।
सिविल ड्रेस में पहुंचे कुछ जवानों ने पहले महंत परमहंस दास से स्वयं उठकर एंबुलेंस में बैठ जाने को कहा लेकिन जब उन्होंने साथ जाने से इनकार किया तब जबरन उन्हें उठाकर एंबुलेंस में बैठा दिया।
सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, लगातार महंत परमहंस दास का स्वास्थ्य खराब होने के कारण जिला प्रशासन के निर्देश पर यह कार्रवाई हुई है। 
महंत परमहंस दास के समर्थकों ने जताई नाराजगी
वहीं अनशन स्थल पर मौजूद उनके समर्थकों ने जबरिया महंत परमहंस दास को उठाए जाने पर कड़ी नाराजगी जाहिर करते हुए जिला प्रशासन पर गंभीर आरोप लगाए हैं। महंत परमहंस दास की शिष्या अर्चना ने आरोप लगाया कि स्वामी जी भारत को हिंदू राष्ट्र बनाने की मांग कर रहे थे।

लगातार देश में अल्पसंख्यकों द्वारा बहुसंख्यकों के ऊपर हो रहे हमलों को देखते हुए यह जरूरी था कि अब भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित कर दिया जाए लेकिन जिला प्रशासन ने जबरन उन्हें अनशन स्थल से उठा दिया, जबकि उनकी मांगों के संबंध में अभी तक कोई विचार नहीं किया गया है।

Translate »
क्रान्ति न्यूज - भ्रष्टाचार के खिलाफ क्रांति की मशाल