पाकिस्तान में कोरोना से मरने वालों की दर 140 फीसदी क्यों बढ़ी? मंत्री ने दिया यह जवाब

पाकिस्तान में प्रशासन द्वारा कोविड-19 महामारी को फैलने से रोकने के लिए जारी दिशानिर्देशों के घोर उल्लंघन की वजह से गत हफ्तों के मुकाबले संक्रमण से मृत्युदर में 140 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। पाकिस्तान के योजना मंत्री असद उमर ने कहा कि यह लोगों के लिए चेतावनी है कि अगर वे ऐसा ही व्यवहार जारी रखेंगे तो जान और जीविकोपार्जन दोने से हाथ धो बैठेंगे। 

उल्लेखनीय है कि पाकिस्तान में गत 24 घंटों में कोविड-19 से 19 लोगों की मौत हुई है, जिन्हें मिलाकर देश में अब तक महामारी से 6,692 लोगों की जान चुकी हैं। 

कोविड-19 महामारी से निपटने के लिए गठित राष्ट्रीय कमान और नियंत्रण केंद्र (एनसीओसी) के प्रमुख की भी जिम्मेदारी निभा रहे उमर ने चेतावनी देते हुए कहा कि आधिकरिक दिशानिर्देशों को नजरअंदाज करने की सामूहिक चूक की भारी कीमत चुकानी पड़ सकती है। 

उन्होंने मंगलवार रात को ट्वीट कर कहा, ”पिछले हफ्ते रोजाना कोविड-19 से होने वाली मौतों की दर 12 थी। यह पिछले कुछ हफ्तों के मुकाबले 140 प्रतिशत अधिक है। हम सभी मानक परिचालन प्रक्रिया (एसओपी) का बेपरवाही से उल्लंघन कर सामूहिक चूक कर रहे हैं जिसके नतीजे सामने आ रहे हैं। अगर हमने मौजूदा रास्ते को नहीं बदला तो हम जीवन और जीविकोर्पाजन दोनों को खो देंगे।”

इस बीच, मंत्रिमंडल ने देश में कोविड-19 मरीजों की बढ़ती संख्या पर चिंता जताई है और लोगों को महामारी की दूसरी लहर आने की आशंका के मद्देनजर सभी एहतियात बरतने को कहा है।

स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक गत 24 घंटे में 660 और लोगों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि होने के साथ देश में कोविड-19 मरीजों की संख्या बढ़कर 3,24,744 हो गई है जिनमें से 3,08,674 लोग ठीक हो चुके हैं। वहीं, 559 लोगों की हालत गंभीर है।

Translate »
क्रान्ति न्यूज - भ्रष्टाचार के खिलाफ क्रांति की मशाल