बीमार हालत में व्यक्ति को रेलवे स्टेशन के बाहर छोड़ने के मामले में डीसी ने जांच के आदेश जारी किये

जालंधर (विशाल ) डिप्टी कमिश्नर घनश्याम थोरी ने मरीज को बीमार हालत में रेलवे स्टेशन के बाहर छोड़ने के मामले की जांच के आदेश जारी किए हैं। यह मामला सोशल मीडिया के जरिए डिप्टी कमिश्नर के ध्यान में आया था, जिस पर उन्होंने सहायक कमिश्नर को जांच करने और विस्तृत रिपोर्ट देने के निर्देश दिए हैं। डिप्टी कमिश्नर ने कहा है कि उनकी जानकारी में यह मामला आया था कि एक बीमार व्यक्ति को रेलवे स्टेशन के बाहर छोड़ा गया है जिसकी हालत ठीक नहीं है। उन्होंने कहा कि इस मामले की जांच सहायक कमिश्नर की तरफ से की जाएगी, जोकि अस्पताल जाकर गहराई से पड़ताल करके उन्हें रिपोर्ट सौंपेंगे।इस दौरान अस्पताल में दाखिल दोनों मरीजों के इलाज, उनके खान-पान का खर्च भी रेडक्रास सोसाइटी की तरफ से वहन किया जाएगा। डिप्टी कमिश्नर ने बताया कि सैक्रेटरी रेडक्रास सोसाइटी को अस्पताल जाकर दोनों मरीजों से मुलाकात करने और उनकी जरूरतों को पूरा करने के लिए कहा गया है। डीसी के निर्देश पर रेडक्रास सोसाइटी के सचिव इंद्रदेव सिंह तत्काल ईएसआई अस्पताल पहुंचे व दोनों मरीजों का हालचाल पूछा। उन्होंने बताया कि इन मरीजों को नए कपड़े मुहैया करवाए गए हैं, साथ ही खाने-पीने की व्यवस्था का जायजा लिया गया है। उन्होंने बताया कि इनमें से एक मरीज प्रवासी मजदूर है, जोकि सड़क दुर्घटना के बाद यहां दाखिल हुआ था। सोसाइटी की तरफ से इलाज के बाद उसे वापस लौटने में आर्थिक मदद की भी पेशकश की गई है।डिप्टी कमिश्नर ने कहा कि इस मामले में बिल्कुल भी लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी और जिले में बेहतरीन सेवाएं उपलब्ध करवाने के लिए प्रशासन पूरी तरह से वचनबद्ध है। उन्होंने कहा कि इस मामले में जांच के बाद जो भी लापरवाह पाया गया, उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी

Translate »
क्रान्ति न्यूज - भ्रष्टाचार के खिलाफ क्रांति की मशाल