ग्रामीणों ने की बैंक को दूसरी बिल्डिंग मे स्थांतरण करने की मांग…

ब्यूरो चीफ झांसी से गिरवर सिंह की रिपोर्ट

मऊरानीपुर। तहसील के अंतर्गत आने वाले ग्राम भंडरा, भानपुरा, कुंवरपुरा, के ग्रामीणों द्वारा बताया गया है। हमारे भंडरा क्षेत्र के लगभग 10 से 12 ग्रामों के लिए एक मात्र बैंक शाखा प्रथमा यू पी ग्रामीण बैंक है, जो कि ग्राम भंडरा मे स्थित है और बैंक मे लगभग 23 हज़ार से ज्यादा खाताधारक है जिससे प्रतिदिन सैकड़ो कि संख्या मे बैंक मे खाताधारक,ग्राहक बैंक अपने लेनदेन या खाता सम्वन्धी कार्यों के लिए 10 से 20 किलोमीटर से किसी तरह आते है। लेकिन बैंक जिस मकान मे स्थित है। वहाँ पर इतनी संकीर्णता है कि दूर दराज से आये बैंक के ग्राहकों जिनमे महिलाएं, बूढ़े लोग सब घंटों बैंक के बाहर खुले आसमान मे खड़े बैठे रहते है क्योंकि बैंक के अंदर मुश्किल से 10 ग्राहकों के लिए ही जगह है। फिर भी बैंक मे खाताधारक बहुत ज्यादा होने कि बजह से बैंक सैकड़ो ग्राहकों से ठसाठस भरी रहती है। क्योंकि बैंक आये दूरदराज के ग्रामीणों को रोज रोज बैंक आना साधन न होने की वजह से मुमकिन नहीं है। इसीलिए खाताधारक ग्रामीणों ने संबंधित अधिकारियो से माँग की है कि इस बैंक को अन्य किसी दूसरी बिल्डिंग मे सिफ्ट किया जाये ताकि बैंक के तमाम खाताधारकों को हो रही परेशानी से छुटकारा मिल सके। वही ग्रामीण,और बैंक कर्मचारी बताते है जब से कोरोना बीमारी का संक्रमण शुरू हुआ है तबसे बैंक मे जगह न होने से स्थिति और ख़राब हो गयी है क्योंकि अंदर इतनी जगह नहीं है जिससे बैंक मे सोशल डिस्टेंसिंग के साथ कार्य होता रहे जिससे बैंक आरहे ग्राहकों के साथ साथ कर्मचारियों को भी कोरोना महामारी से ग्रसित होने का डर लगा रहता है। प्रार्थना पत्र देने वालो आशाराम, रामली, संतोष पटेल, प्रकाश चंद्र भंडरा, मुकेश रामप्रसाद, पप्पू, रामकृपाल, परमलाल, भानपुरा, ब्रजकिशोर यादव चतुर्भुज यादव मुन्नालाल, भोले अहिरवार कुंवरपुरा आदि ग्रामों के दो दर्जन से अधिक ग्रामीण खाताधारक शामिल रहे।

Translate »
क्रान्ति न्यूज - भ्रष्टाचार के खिलाफ क्रांति की मशाल